आगरा, जागरण संवाददाता। विधानसभा चुनाव में इस बार 4500 पुलिसकर्मी पोस्टल वोट डाल सकेंगे। इसके लिए उन्हें मतदाता पहचान पत्र पर लिखा एपिक नंबर उपलब्ध कराना होगा। चुनाव आयोग की गाइड लाइन के अनुसार एसएसपी सुधीर कुमार सिंह ने पुलिसकर्मियों से एपिक नंबर उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। जो कर्मचारी नंबर उपलब्ध नहीं कराएंगे उनका वेतन रोका जा सकता है। इससे वह पुलिसकर्मी परेशान हैं, जिनके पास मतदाता पहचान पत्र नहीं हैं।

एसएसपी ने बताया कि चुनाव के दौरान पुलिसकर्मियो की ड्यूटी रहती है। जिसके चलते उन्हें पोस्टल वोट डालने की अनुमति दी जाती है। चुनाव आयोग की गाइड लाइन के अनुसार पोस्टड वोट डालने के लिए पुलिसकर्मियों को एक फार्म भरकर देना है।एसपी पश्चिम सत्यजीत गुप्ता को नोडल अधिकारी बनाया गया है। इस संबंध में आदेश जारी कर दिया गया है। जिले में करीब साढ़े चार हजार पुलिसकर्मी हैं।

वेबसाइट से निकाला जा सकता है आनलाइन नंबर

एपिक नंबर आनलाइन भी निकाला जा सकता है। इसके लिए चुनाव आयोग की वेबसाइट पर जाकर अपनी विधानसभा देखें। इसमें अपने गांव का नाम-पता भरकर एपिक नंबर निकाला जा सकता है। पुलिसकर्मी अपने स्वजन की मदद से बूथ स्तर पर उपलब्ध सूची देखकर एपिक नंबर पता कर सकते हैं।

ये होता है एपिक नंबर

मतदाता पहचान पत्र बनता है, उस पर एक एपिक नंबर लिखा होता है। पोस्टल वोट डालने के लिए इस नंबर को लिखना होता है।बड़ी संख्या में ऐसे पुलिसकर्मी भी हैं, जिनके पास मतदाता पहचान पत्र नहीं है। इससे वह तनाव में हैं कि एपिक नंबर न देने पर उनका वेतन न रुक जाए। 

Edited By: Prateek Gupta