आगरा, जागरण संवाददाता। जिसका अंदेशा था वही हुआ। शहर में सीटेट परीक्षा में हजारों अभ्यर्थी शहर में आए तो ट्रैफिक व्यवस्था फेल हो गई। ट्रैफिक पुलिस संभालने में नाकाम रही। दिनभर शहरभर में भीषण जाम लगा रहा और लोग खीजते रहे। सुबह से लेकर शाम तक यही हालात बने रहे। इसके बाद भी कुछ चौराहे पुलिस विहीन दिखे।

शहर में सीटेट की परीक्षा में रविवार को 80 हजार से अधिक अभ्यर्थी शामिल होने थे। इनके साथ अभिभावक भी आने थे। इस तरह यह संख्या डेढ़ लाख पहुंचने की उम्मीद थी। इसकी जानकारी पुलिस प्रशासन को पहले से ही थी। मगर, इंतजाम नहीं किए गए। सामान्य दिनों की तरह ट्रैफिक पुलिस की ड्यूटी लगींं। ऐसे में सुबह से ही जाम लगना शुरू हो गया। पुलिस ने इसकी अनदेखी की। इसी का खामियाजा लोगों ने भुगता। एक बार जाम लगा तो यह बढ़ता ही गया। ट्रैफिक पुलिस व्यवस्था संभालने में नाकाम हो गई। शाम तक शहर भर में भीषण जाम ल गया। एमजी रोड के सभी चौराहों पर दिनभर जाम रहा। यहां वाहन रेंगते-रेंगते चले। हाईवे पर सिकंदरा चौराहा, सिकंदरा आरओबी, बोदला चौराहा, शाहगंज बाजार, बिजलीघर चौराहा, रामबाग चौराहा, रुई की मंडी फाटक समेत अन्य स्थानों पर जाम लगा रहा।

यमुना पार में लगा तीन किमी लंबा जाम

यमुना पार में शाहदरा चुंगी पर निर्माणाधीन फ्लाइओवर के कारण रास्ता संकरा है। यहां कई ओर से अभ्यर्थी अपने-अपने वाहन से पहुंचे। कुछ गलत दिशा में भी चलने लगे। शुरुआत में यहां पुलिस नहीं थी। इसलिए जाम लग गया। शाम होते-होते फीरोजाबाद जाने वाले वाहन रामबाग फ्लाइओवर पर ही फंस गए। उधर, शाहदरा से छलेसर तक जाम लग गया। करीब तीन किमी लंबी लाइन लगने के बाद थाना पुलिस सक्रिय हो गई। कुछ वाहनों को ट्रांस यमुना कॉलोनी फेस वन से हाथरस रोड पर डायवर्ट किया गया। मगर, इससे कॉलोनी और हाथरस रोड भी जाम हो गया। रात तक जाम लगा रहा।

एंबुलेंस और स्कूली वाहन भी फंसे

कई स्थानों पर जाम में एंबुलेंस और स्कूली वाहन भी फंस गए। मुश्किल से ये जाम से पार हो सके। 

Posted By: Prateek Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस