आगरा, जागरण संवाददाता। साइबर शातिरों ने शिक्षक, महिला और बुजुर्ग को ठगी का शिकार बना लिया। शिक्षक के मोबाइल नंबर के सत्यापन, महिला को लकी ड्राॅ में फ्रिज निकलने और बुजुर्ग को किसान निधि की धनराशि मिलने का झांसा देकर निशाना बनाया।

कमला नगर के अमिता विहार निवासी संजय कुमार गुप्ता प्राथमिक विद्यालय में शिक्षक हैं। उनके अनुसार इस साल 22 फरवरी को उनके नंबर पर मैसेज आया। उनसे अपने बीएसएनएल नंबर का सत्यापन कराने के लिए फोन करने को कहा गया। उन्होंने दिए गए नंबर पर फोन किया। उनसे दस रुपये का रिचार्ज करने को कहा। आनलाइन रिचार्ज करते ही उनके क्रेडिट कार्ड से दो बार में 50 हजार रुपये कट गए।

कमला नगर निवासी पूजा गर्ग को साइबर शातिरों ने लकी ड्राॅ में फ्रिज निकलने का झांसा दिया। उनके नंबर पर फोन करके कहा कि आनलाइन कंपनी से बोल रहे हैं। लकी ड्राॅ में उनकी फ्रिज निकली है। जिसे लेने को उन्हें पांच हजार रुपये की आनलाइन खरीदारी करनी होगी। पांच हजार रुपये का भुगतान करने पर कहा गया कि 12 हजार रुपये जीएसटी के जमा होंगे। उन्होंने यह राशि भी जमा कर दी। उनसे कहा कि जमा की गई राशि शो नहीं हो रही है, दोबारा जमा करा दें। यह रकम बाद में उनके खाते में आ जाएगी। शातिरों ने उनसे 29 हजार रुपये ठग लिए।

तीसरी घटना कर्मयोगी एन्क्लेव कमला नगर निवासी 62 साल के कैलाश चंद के साथ हुई। उनके नंबर पर 27 जुलाई को एक फाेन आया। उनसे कहा कि राज्य कृषि निदेशालय लखनऊ से बाेल रहे हैं। किसान निधि के 16 हजार रुपये उन्हें मिलने हैं। इसके लिए उन्हें चार हजार रुपये खर्च करने होंगे, जिसे जमा कराने के लिए बैंक खाता संख्या दी। रकम जमा कराने के बाद दो महीने तक उनके खाते में किसान निधि की धनराशि नहीं आई तो धोखाधड़ी का पता चला। पीड़ितों की शिकायत पर कमला नगर थाने में रिपोर्ट दर्ज की गई है।

Edited By: Nirlosh Kumar