आगरा, यशपाल चौहान। जगदीशपुरा थाने के मालखाने में चोरी करने वाले शातिर कितने बेखौफ थे, इसका अनुमान उनके बेखौफ अंदाज से लगाया जा सकता है। करीब सौ वर्गगज से अधिक क्षेत्रफल में फैले मालखाने में कई कमरे बने हैं। इनमें से पांच दरवाजे तोड़कर चोर नए मालखाने में पहुंचे और काफी देर तक उसमें माल खंगालते रहे। 25 लाख रुपये चोरी करने के बाद शातिर यहां से भाग गए। थाने में पुलिसकर्मी थे, लेकिन उन्हें भनक तक नहीं लग सकी।

जगदीशपुरा थाने का मालखाना काफी बड़ा है। इसमें चार कमरों में काफी पुराने मुकदमों से संबंधित माल रखे हैं। वर्ष 2020 में मालखाना मोहर्रिर की मौत होने के बाद पुराने माल से संबंधित चार कमरों को सील कर दिया था। थाने के कार्यालय की बगल में एक कमरे में वर्ष 2020 के बाद के मुकदमों से संबंधित माल रखे थे। नए मालखाना मोहर्रिर इस कमरे को खोलकर प्रतिदिन बैठते थे। सील किए गए मालखाने के चार कमरों में कोई आता-जाता नहीं था। ये सभी कमरे एक- दूसरे से जुड़े हुए हैं। अंतिम कमरे का गेट बाहर खुलता है। यहां से थाने के बंद गेट की दूरी 20 फीट होगी। चोरों ने अंतिम कमरे के इसी गेट को पहले निशाना बनाया है। अंदर से बंद लकड़ी के गेट में धक्का मारकर खोलने की कोशिश की। इसमें दरवाजे लकड़ी टूट गई और चोर यहीं से अंदर दाखिल हो गए होंगे। इस गेट से अंदर घुसने के बाद एक के बाद एक गेट को चोरों ने धक्का देकर तोड़ दिया। इसके बाद चाेर अंतिम दरवाजे को तोड़कर नए मालखाने में पहुंच गए। यहां बॉक्स में रखे 25 लाख रुपये चोरी किए। चोरों के अंदाज से यह स्पष्ट है कि उन्हें मालखाने के अंदर की पूरी जानकारी थी। अंजान आदमी थाने में बेखौफ तरीके से नए मालखाने तक नहीं पहुंच सकता था। यह भी माना जा रहा है कि चोर मालखाने में कम से कम एक घंटे तक रहे होंगे।

पुलिस की चार लापरवाही

- मालखाने के गेट का उपयोग नहीं हो रहा था तो उसे बंद क्यों नहीं कराया गया था?

- थाने में सीसीटीवी कैमरे लगे हैं। मगर, मालखाने के पीछे के गेट की ओर कोई कैमरा नहीं?

- थाने के हवालात में तीन अपराधी थे। इसका गेट मालखाने के सामने ही है।

- थाने के आफिस में तीन पुलिसकर्मी थे। आखिर इन्हें कैसे चोरों की आहट नहीं हुई।

टाइम लाइन

सुबह 9.30 बजे- मालखाना मोहर्रिर को मालखाने से चोरी की जानकारी हुई।

10 बजे- इंस्पेक्टर जगदीशपुरा पहुंच गए।

11 बजे - फोरेंसिक टीम पहुंची और घटनास्थल की जांच की।

12 बजे - एसएसपी मुनिराज जी. और एसपी सिटी विकास कुमार थाना जगदीशपुरा पहुंचे।

1.15 बजे - एडीजी राजीव कृष्ण ने घटनास्थल का निरीक्षण किया।

एडीजी ने लिया एक्‍शन

एडीजी आगरा जोन राजीव कृष्णा ने थानेे के मालगोदाम से चोरी होने के मामले में त्‍वरित एक्‍शन लिया है। उन्‍होंने थाना जगदीशपुरा के एसएचओ अनूप कुमार तिवारी सहित सब इंस्पेक्टर और तीन पुलिसकर्मी को निलंबित किए जाने के आदेश कर दिए हैं। साथ ही पूरे मामले की जल्‍द जांच कराकर रिपोर्ट प्रस्‍तुत करने को कहा है।

Edited By: Prateek Gupta