आगरा, जागरण संवाददाता। पुलिस हिरासत में हुई सफाई कर्मचारी की मौत को लेकर सियासत गर्मा गई है। कांग्रेस, समाजवादी पार्टी, आम आदमी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी सहित सभी राजनीतिक पार्टियां सक्रिय हो गई हैं। इन पार्टियों के वरिष्ठ नेता पीड़ित परिवार से मिल रहे हैं। वहीं, स्थायी सपाई पीड़ित परिवार के संपर्क में हैं। वह इस मामले को लंबा खींचने की तैयारी में हैं। इसको लेकर रणनीति तैयार की जा रही है। पार्टी के वरिष्ठ नेता इस मुद्दे को लेकर गंभीर हैं।

सपा महानगर अध्यक्ष चौधरी वाजिद निसार का कहना है कि जिस तरह से सफाई कर्मचारी की पुलिस हिरासत में मौत हुई है, वह शर्मनाक है। पार्टी अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने घटना को लेकर ट्वीट कर निंदा की थी। उन्होंने बताया कि वह पीड़ित परिवार के संपर्क में हैं। जब तक पीड़ित परिवार को उसका हक नहीं मिल जाता, पार्टी का आंदोलन तब तक जारी रहेगा। जरूरत पड़ने पर सड़क पर भी उतरेंगे। महानगर अध्यक्ष का कहना है कि राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव भी सफाई कर्मचारी के परिजनों से मिलने के लिए आगरा आ सकते हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार में गरीबों का उत्पीड़न हो रहा है। सपा इस मामले की निष्पक्ष जांच चाहती है। कोर्ट की निगरानी में यह जांच होनी चाहिए। वहीं, बसपा भी इस मामले को लेकर आवाज बुलंद करने की तैयारी में है। बसपा जिलाध्यक्ष विमल कुमार वर्मा का कहना है कि सफाई कर्मचारी को गलत तरीके से फंसाने का प्रयास किया जा रहा था। आप नेता व राज्यसभा सदस्य संजय सिंह भी इस मामले को लेकर सरकार को कटघरे में खड़ा कर रहे हैं। उन्होंने भी इस मामले की जांच कोर्ट की निगरानी में कराने की बात कही है, जिससे कि सत्य सामने आ सके।

आगरा आ रहे हैं सलमान खुर्शीद और सुप्रिया सुले

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने बुधवार देर रात अरुण के परिवार से मुलाकात की थी। प्रियंका ने परिवार को आर्थिक के साथ कानूनी सहायता दिलाने का आश्वासन दिया था। उनके निर्देशों पर पूर्व कानून मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद और सुप्रिया श्रीनेत आगरा आ रही हैं। वो गुरुवार शाम अरुण के घर जाएंगे।

Edited By: Nirlosh Kumar