आगरा, जेएनएन। ब्रज की धरती द ग्रेट खली खूब पसंद आ रही है। आगरा में एक कार्यक्रम शामिल होने आए खली ने रविवार को वृंदावन में बांके बिहारी मंदिर के दर्शन किए। इससे पूर्व शुक्रवार को मथुरा में श्री कृष्‍ण जन्‍मभूमि में दर्शन के बाद शनिवार को आगरा का भ्रमण किया था। यहां उनकी पत्‍नी ने ताज का दीदार भी किया था। द ग्रेट खली इन दिनों ब्रज का भ्रमण कर रहे हैं। मथुरा, आगरा के बाद रविवार को वे वृंदावन पहुंचे। ताजनगरी के भ्रमण के दौरन उन्‍होंने आगरा को दुनिया का खूबसूरत शहर बताया। जल्द ही आगरा और मथुरा में डब्लूडब्लूएफ की एकेडमी खोलने की बात कही।

द ग्रेट खली उर्फ दिलीप राणा रविवार को परिवार के साथ ठा. बांकेबिहारी मंदिर में दर्शन करने पहुंचे। मंदिर में पहले से मौजूद भीड़ के बीच जब खली को लोगों ने देखा तो उनके नजदीक आने की उत्सुकता हर किसी में देखी गई। पहले से ही रास्ते और मंदिर के अंदर भीड़ को देख खली को भी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। निजी सुरक्षागार्डों के बीच बमुश्किल मंदिर के अंदर प्रवेश कर आराध्य के दर्शन कर पूजा-अर्चना की। ठा. बांकेबिहारी मंदिर में रविवार सुबह अचानक ऊंची-कद काठी का व्यक्ति पहुंचा, तो श्रद्धालुओं के मुंह से अचानक खली और द ग्रेट खली के स्वर गूंजने लगे। जो एकाग्रचित होकर ठा. बांकेबिहारी को निहार रहे थे, वे भी भीड़ के बीच लंबे कद के खली को देखकर उनकी ओर मुखातिब होते नजर आए। बांकेबिहारी मंदिर की गली और चबूतरे पर उन्हें एक नजर देखने के लिए हर कोई दीवाना नजर आया। भीड़ को चीरते हुए उनके गार्ड बड़ी मुश्किल के साथ मंदिर के अंदर ले जा पाए। दीवार के सहारे से खली अंदर पहुंच गए। लेकिन हर श्रद्धालु उनके नजदीक आने की जुगल लगाता नजर आया। श्रद्धालुओं में खली के साथ सेल्फी लेने की भी होड़ लगी रही। मंदिर के गेट संख्या एक से खली ने मंदिर में प्रवेश किया और आराध्य के दर्शन किए।

खली शनिवार को आगरा में सेंट पीटर्स कॉलेज के वार्षिक खेल आयोजन में शिरकत करने आए थे। अयोध्या मामले के फैसले के चलते कार्यक्रम तो रद हो गया। लेकिन देर शाम खली ने सेंट पीटर्स कॉलेज का दौरा किया। कॉलेज के प्राचार्य फादर एंड्रू कोरिया व अन्य शिक्षकों से मुलाकात की। खली ने दैनिक जागरण को बताया कि आगरा शहर उन्हें बहुत खूबसूरत लगा। यहां एकेडमी खोली जाए तो डब्लूडब्लूएफ की प्रतिभाओं को निखारा जा सकता है। खली ने कहा कि ऐसी बात नहीं है कि हमारे देश में अच्छे डब्लूडब्लूएफ खिलाड़ी तैयार नहीं किए जा सकते। इस मिथक को तोडऩे के लिए उन्होंने एकेडमी खोली है। हॉल ही में कविता देवी को प्रशिक्षण देकर डब्लूडब्लूएफ के लिए चयनित कराया है। जगह मिलने पर आगरा और मथुरा में भी एकेडमी खोलेंगे। आगरा में जल्द ही डब्लूडब्लूएफ की फाइट कराने का प्लान बना रहे हैैं। इसके लिए आगरा के अमित तिवारी से बात चल रही है। 

Posted By: Tanu Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप