आगरा, जागरण संवाददाता। बुधवार सुबह की यह सबसे बड़ी खबर है। शहर के प्रमुख न्‍यूरो सर्जन भी कोरोना वायरस के संक्रमित पाए गए हैं। उनकी दूसरी रिपोर्ट कोरोना पॉजीटिव आई है। इसके बाद स्‍वास्‍थ्‍य महकमे में हड़कंप मच गया है। चूंकि चिकित्‍सक ने लॉकडाउन के दौरान भी गंभीर रोगियों के जटिल ऑपरेशन किए थे। एहतियात के तौर पर संबंधित हॉस्पिटल के स्‍टाफ और मरीजों के भी कोरोना वायरस के टेस्‍ट कराए जाएंगे।

आगरा-दिल्‍ली हाईवे पर स्थित एक प्राइवेट हॉस्पिटल में सेवाएं दे रहे न्‍यूरो सर्जन की कोरोना जांच रिपोर्ट मंगलवार रात को आई है। यह उनका दूसरा टेस्‍ट था। दूसरी रिपोर्ट पॉजीटिव आने के बाद प्रशासन और स्‍वास्‍थ्‍य महकमे के हाथ-पैर फूल गए हैं। दरअसल न्‍यूरो सर्जरी के क्षेत्र में चिकित्‍सक का कोई सानी नहीं है। देश में लागू लॉकडाउन के दौरान भी वे अपने चिकित्‍सकीय धर्म को निभाते हुए गंभीर व जटिल ऑपरेशन कर रहे थे। हालांकि पिछले कुछ समय से वे हॉस्पिटल नहीं आ रहे थे। संभवत: कोरोना संक्रमण की वजह से ही उन्‍होंने हॉस्पिटल आना बंद किया हो। चूंकि चिकित्‍सक के पास आगरा ही नहीं बल्कि आसपास के शहरों और सटे हुए राज्‍यों से भी लोग इलाज के लिए आते हैं, ऐसे में यह भी कह पाना मुश्किल है कि उन्‍हें संक्रमण किस से लगा होगा। प्रशासन अब हॉस्पिटल से मरीजों का रिकार्ड निकलवा रहा है। इन मरीजों के भी कोरोना टेस्‍ट कराए जाएंगे। साथ ही हॉस्पिटल में चिकित्‍सक के संपर्क में रहे स्‍टाफ की भी कोरोना जांच कराए जाने की तैयारी है।  

Posted By: Prateek Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस