आगरा, जागरण संवाददाता। : फतेहाबाद विधानसभा क्षेत्र के प्रत्याशियों के सामने 10 हजार से अधिक मतदाताओं को मनाने के लिए अजब चुनौती सामने है। गणतंत्र दिवस पर कई पार्टियों के प्रत्याशी गांव हज्जपुरा में वोट मांगने गए थे। उनके सामने तब अजब स्थिति पैदा हो गई, जब पूरे गांव ने प्रत्याशियों के सामने तीन दिन से लापता नौ साल के बालक को खोजकर लाने की शर्त रख दी।

बालक की बरामदगी को लेकर अब आसपास के गांव के लोग भी एकजुट हो गए हैं। इन गांवों में 10 हजार से ज्यादा मतदाता हैं। ग्रामीणों ने कह दिया है कि किस प्रत्याशी को मत देना है, इस बारे में अभी नहीं सोचा है। उनकी पहली प्राथमिकता बालक की बरामदगी है। वहीं, बालक की बरामदगी को लेकर धरना-प्रदर्शन इसलिए नहीं कर रहे हैं क्योंकि पुलिस के सामने कानून-व्यवस्था की समस्या पैदा हो जाएगी। पुलिस अधिकारियों ने ग्रामीणों से कहा है कि यदि वे धरना-प्रदर्शन करेंगे तो इससे बालक की तलाश में जुटी पुलिस प्रभावित होगी। उसे कानून-व्यवस्था को भी बरकरार रखना होगा। ये है मामला

मामला इरादतनगर थाना क्षेत्र के गांव हज्जपुरा का है। गांव के किराना व्यापारी गब्बर सिंह का नौ साल का बेटा कुलदीप 23 जनवरी को घर के बाहर बच्चों के साथ खेल रहा था। वह पहली कक्षा में पढ़ता है। तीसरे पहर करीब तीन बजे स्वजन ने उसे ट्यूशन पढ़ने को भेजने के लिए तलाशना शुरू किया। साथ खेलने वाले बच्चों ने स्वजन को बताया कि कुलदीप को गांव में हुई एक तेरहवीं के भोज में देखा था। कुलदीप के चाचा जितेंद्र ने बताया कि इरादतनगर थाने में मुकदमा दर्ज कराया है। एसपी ग्रामीण सत्यजीत गुप्ता गांव पहुंचे। उन्होंने स्वजन को बालक की बरामदगी का आश्वासन दिया। ग्रामीण भी अपने स्तर से उसकी तलाश में जुटे हैं। गणतंत्र दिवस पर प्रत्याशियों के सामने रखी शर्त

बुधवार को डोर टू डोर प्रचार के तहत बुधवार को कई पार्टियों के प्रत्याशी गांव पहुंचे। गांव वालों का प्रत्याशियों से कहना था कि वे वोट की बात बाद में करें। पहले उनके गांव से गायब हुए बच्चे को खोजने में मदद करें, क्योंकि वह किसी एक परिवार का बेटा नहीं बल्कि पूरे गांव का सदस्य है। ग्रामीणों ने प्रत्याशियों से कहा कि पहले बच्चे को ढूंढकर लाओ, इसके बाद गांव में आकर वोट की बात करना। गांव की एकजुटता को देख प्रत्याशियों ने भी बच्चे को खोजने का आश्वासन दिया है। बालक की बरामदगी का प्रयास किया जा रहा है। उसकी बरामदगी के पुलिस की चार टीम लगाई गई हैं।

सत्यजीत गुप्ता, एसपी ग्रामीण पश्चिम

Edited By: Jagran