आगरा, जागरण संवाददाता। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा की रैली को आगरा आई टीम प्रियंका मंगलवार को लखनऊ लौट गई। टीम प्रियंका ने स्थानीय मुद्दों के साथ ही क्षेत्र की समस्याओं की जानकारी जुटाई है। वहीं, संगठन रैली की तैयारियों के लिए पुलिस-प्रशासन की अनुमति मिलने का इंतजार कर रहा है। अनुमति मिलते ही रैली में भीड़ जुटाने को संपर्क शुरू किया जाएगा।

प्रियंका गांधी वाड्रा की रैली सात अक्टूबर को आगरा में होनी है। रामलीला मैदान में रैली के लिए पार्टी ने पुलिस-प्रशासन से अनुमति मांगी है। रैली के लिए शनिवार को ही टीम प्रियंका आगरा आ गई थी। टीम आगरा में तीन दिन रुकी। सोमवार को टीम ने रामलीला मैदान का जायजा भी लिया। आगरा प्रवास में टीम प्रियंका ने स्थानीय समस्याओं और मुद्दों से जुड़ी जानकारी कार्यकर्ताओं से जुटाई। उधर, रैली के लिए राष्ट्रीय सचिव रोहित चौधरी मंगलवार को आगरा आ गए थे और उन्होंने पार्टी नेताओं के साथ बैठक की।

एक लाख लोगों की भीड़ जुटाने का लक्ष्य

प्रियंका की रैली में आगरा, फीरोजाबाद, मथुरा, मैनपुरी, अलीगढ़, एटा, हाथरस, कासगंज, बरेली व इटावा से लोगों को लाया जाएगा। रैली में एक लाख लोगों की भीड़ जुटाने का लक्ष्य रखा गया है। कांग्रेस के लिए इतनी भीड़ जुटाना एक चुनौती होगा।

गली-मोहल्लों में करेंगे संपर्क

कांग्रेसी रैली को सफल बनाने के लिए गली-गली और मोहल्लों में संपर्क करेंगे। कांग्रेस की उपलब्धियां गिनाते हुए भाजपा, सपा और बसपा के कार्यकाल की खामियों को गिनाया जाएगा।

राष्ट्रीय सचिव ने दी सांत्वना

कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव रोहित चौधरी ने कांग्रेस नेता अनवार सिद्दीकी के घर जाकर उन्हें सांत्वना दी। अनवार सिद्दीकी की पत्नी का निधन पिछले दिनों हो गया था। प्रदेश उपाध्यक्ष उपेंद्र सिंह, जिलाध्यक्ष राघवेंद्र सिंह मीनू, शहर अध्यक्ष देवेंद्र कुमार चिल्लू, संजीव नागर, अनुज शिवहरे, प्रेमपाल, याकूब शेख, चंद्रमोहन जैन आदि मौजूद रहे।

Edited By: Nirlosh Kumar