आगरा, जागरण संवाददाता। एनसीसी दिवस के मौके पर सोमवार को स्कूलों, कालेजों में कार्यक्रम आयोजित किए गए। इस दौरान एनसीसी कैडेटों को अनुशासन का पाठ पढ़ाया गया। साथ ही प्रतिभाओं को सम्मानित किया गया।

दयालबाग शिक्षण संस्थान में एनसीसी कैडेटों ने अलंकरण व सांस्कृतिक समारोह का आयोजन किया। इसमें वर्ष 2020-21 में दिल्ली में हुई गणतंत्र दिवस परेड में संस्थान और आगरा ग्रुप का प्रतिनिधित्व करने वाले 11 कैडेटों और एनसीसी गतिविधियों में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए कैडेट मुस्कान मोहन को सम्मानित किया गया। उद्घाटन मुख्य अतिथि कमांडर एनसीसी मुख्यालय ब्रिगेडियर मनोज मोहन ने किया। उन्होंने एनसीसी कैडेटों को हार से निराश न होने की सीख दी। उनका कहना था कि हार और जीत सिक्के के दो पहलू हैं। हार से हताश न हों, सीख कर आगे बढ़ें। संस्थान के एनसीसी अधिकारी लेफ्टिनेंट मनीष कुमार ने बताया कि संस्थान के दो पूर्व कैडेट राहुल त्यागी और इंद्रजीत सिकरवार का चयन भारतीय सेना में एनसीसी स्पेशल एंट्री से बतौर अफसर हुआ है। ओटीए चेन्नई से प्रशिक्षण प्राप्त कर लेफ्टिनेंट राहुल को सेना की आर्टिलरी रेजिमेंट और लेफ्टिनेंट इंद्रजीत को गोरखा रेजिमेंट प्राप्त हुई है। महानिदेशक एनसीसी द्वारा दिए जाने वाले महानिदेशक प्रशस्तिपत्र और बैच के लिए एसयूओ प्रणय प्रताप सिंह का चयन हुआ है। कैडेट दिव्या अग्रवाल, चिराग गुप्ता ने अपने भाव व्यक्त किए। भूतपूर्व कैडेट संगिनी दत्त ने एनसीसी यात्रा का व्रतांत प्रस्तुत किया। संस्थान के कुलसचिव प्रो. आनंद मोहन, डीईआइ टेक्निकल कालेज के प्राचार्य विजय प्रकाश मल्होत्रा, सूबेदार अशोक कुमार थापा, चीफ अफसर लोकेंद्र सिंह आदि मौजूद रहे।

एनसीसी दिवस मनाया :

आगरा, जागरण संवाददाता। कमला नगर स्थित सरस्वती विद्या मंदिर स्कूल में सोमवार को एनसीसी दिवस मनाया गया। इसमें विद्या भारती के राष्ट्रीय सह संगठन मंत्री यतींद्र कुमार ने परेड का निरीक्षण कर कैडेटों को देश सेवा का महत्व समझाया।

इस दौरान उन्होंने कहा कि एनसीसी का गठन 1948 में एकता और अनुशासन के लक्ष्य को लेकर किया गया था। इसके माध्यम से युवाओं में जोश और जज्बे को बरकरार रखने के साथ देश व समाज की आवश्यकताओं के अनुरूप कार्य करने के लिए प्रेरित किया जाता है। प्रधानाचार्य कृष्णकांत द्विवेदी ने बताया कि एनसीसी युवाओं में देश भक्ति और नेतृत्व क्षमता विकसित करने का सशक्त माध्यम है। कंपनी कमांडर कैप्टन केसी दुबे ने बताया कि एनसीसी युवाओं का सैन्य प्रशिक्षण और अनुशासित जीवन शैली से परिचय कराकर उन्हें सेना में शानदार करियर बनाने के लिए प्रोत्साहित करती है। एसओ ज्ञानेंद्र तिवारी, मनोज यादव, अरविद मिश्रा, सीनियर कैडेट कार्तिकेय शर्मा, वंशी बघेल, मानवेंद्र सिंह चौहान, राम मधुकर यादव, अर्पित सविता, दिनेश कुमार आदि ने व्यवस्था का संचालन किया।

Edited By: Jagran