आगरा, जागरण संवाददाता। ताज के साये तले शिल्‍प और संस्‍कृति के महोत्‍सव का आगाज मंगलवार शाम से हो गया। लोक कलाओं के इस महोत्‍सव में शिल्पियों ने अपनेे शिल्‍प को करीने से सजाया है तो मंचीय कार्यक्रम की प्र‍स्‍तुति के लिए कलाकर तैयारियां पूर्ण कर चुके हैं। महोत्‍सव के उदघाटन के लिए राज्‍यमंत्री डॉ नीलकंड तिवारी को आना था लेकिन दोपहर में उनका आना कैंसिल हो गया। ऐसे में मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ से उम्‍मीद थी कि शायद वे उद्घाटन के लिए पहुंचें लेकिन वे भी अमेरिकी राष्‍ट्रपति ट्रंप के आगमन की तैयारियों में व्‍यस्‍त रहे। हालांकि ताज महोत्‍सव के आरंभ होने के साथ ही कला के कद्रदानों की भीड़ शाम को ही उमड़ पड़ी। 

संस्‍कृति के रंग ताज के संग का दस दिवसीय आयोजन ताज महोत्‍सव 2020 मंगलवार शाम से आरंभ हो गया।ताज महोत्सव का दीप प्रज्वलित कर योगेन्द्र दा, सांसद एसपी सिंह बघेल, मंडलायुक्‍त अनिल कुमार और डीएम प्रभुनारायण सिंह, एडीजी अजय आनंद ने उद्घाटन किया। पंडित केशव तलेगांवकर एवं साथियों द्वारा संस्‍कृति के रंग ताज के संग गीत की प्रस्‍तुति के बाद पंडित मुरारी लाल शर्मा के निर्देशन में ब्रज की होली का मंचन मन को मोहित करेगा। डॉ मधुमिता भट्टाचार्य शास्‍त्रीय गायन की प्रस्‍तुति देंगी। इसके बाद सियाराम के जयघोष के साथ सत्‍य समर्पण ग्रुप की सियाराम परमधाम नामक नृत्‍य नाटिका मुख्‍य आकर्षण होगी। आयोजन के ही अंतर्गत दा साहब नाटक का मंचन सूरसदन प्रेक्षागृह में होगा। वहीं महोत्‍सव में दूसरी ओर 258 शिल्पियों का शिल्‍प महोत्‍सव को खरीददारी का सबसे उम्‍दा स्‍थान बना देगा।

इतना ही नहीं 21 फरवरी को शिवरात्रि के अवसर पर गंगा अवतरण नृत्‍य नाटिका शिव महिमा का बखान भी करेगी।

पूरी हुईं तैयारियां

शिल्पग्राम में साज-सज्जा व अन्य व्यवस्थाएं करने का काम दिन-रात चल रहा है। मंगलवार की सुबह से ही शिल्पियों को स्‍टॉल आवंटन होने शुरु हो गए थे। आवंटन के साथ शि‍ल्‍पी अपने शिल्‍प उत्‍पाद को सलीके से स्‍टॉल पर सजा रहे हैं।

यहां का शिल्प मिलेगा

वाराणसी का सिल्क, लखनऊ का चिकन, पंजाब की फुलकारी, सहारनपुर का फर्नीचर, भदोही का कारपेट, खुर्जा की पॉटरी, कश्मीर का शूट व पश्मीना शॉल, फरीदाबाद का टेराकोटा, प. बंगाल की कांथा साड़ी आदि।

यह भी हैं आकर्षण

- 22 फरवरी: होटल क्लार्क शीराज मेकं स्फीहा और टूरिज्म गिल्ड द्वारा सेमिनार बियोंड द ताज।

- 19 से 21 फरवरी: ट्रैवल राइटर्स और ट्रैवल ब्लॉगर्स कॉन्क्लेव होगा। 21 फरवरी को होटल ताज खेमा में ओपन सेशन होगा।

- 22 व 23 फरवरी: अशोक कॉसमॉस मॉल में आगरा ग्रीन फेस्टिवल।

- शिल्पग्राम में अंतरिक्ष वेधशाला व रेलवे की प्रदर्शनी।

ताज महोत्सव में नजर आएगा रेलवे का इतिहास

ताज महोत्सव में भारतीय रेल के गौरवमयी इतिहास के साथ जनोपयोगी जानकारी मिलेगी। लोहे की रेल के साथ लकड़ी और कागज की रेल लोगों को आकर्षित करेगी। रेलवे ताज महोत्सव में प्रदर्शनी का आयोजन करेगा। इसमें रेलवे से जुड़ी कई महत्वपूर्ण जानकारियां उपलब्ध कराई जाएंगी। ताज महोत्सव के तहत शिल्पग्राम में प्रदर्शनी का आयोजन किया जाएगा। रेलवे का जनसंपर्क विभाग कई वर्षो से ताज महोत्सव में प्रदर्शनी लगा रहा है। महोत्सव में लग-अलग तरह के मॉडल प्रदर्शित किए जाएंगे। इस बार प्रदर्शनी के लिए कपूरथला, बनारस, पटियाला, जोधपुर, झांसी, इलाहाबाद, चितरंजन सहित अन्य स्थानों से मंगाए गए मॉडल प्रदर्शित किए जाएंगे। इसके अलावा रेलवेकर्मी ताज महोत्सव में नुक्कड़ नाटक के माध्यम से धूमपान के दुष्प्रभाव, रेलवे के इतिहास और ट्रेनों के संबंध में जानकारी भी देंगे।

ये होंगे आकर्षण का केंद्र

- सबसे पुराना स्टीम इंजन डब्ल्यूपी

- आइआरएस कोच

- मालगाड़ी के डिब्बे: बॉक्स वैगन, केसी वैगन, बॉक्स एन वैगन

- डीजल एवं शंटिंग इंजन

- ओएचई निरीक्षण यान

- लोकोमोटिव इंजन

 

Posted By: Tanu Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

जागरण अब टेलीग्राम पर उपलब्ध

Jagran.com को अब टेलीग्राम पर फॉलो करें और देश-दुनिया की घटनाएं real time में जानें।