आगरा, जागरण संवाददाता। बहुत बुरा दौर चल रहा है। कोरोना का झपट्टा कब सांस उखाड़ ले पता ही नहीं चल रहा है। कोरोना जहां लोगों पर कहर बरपा रहा है वहीं, मददगारों का कारवां भी बढ़ता जा रहा है। ये मददगार न दिन देख रहे, न रात।हर समय पीड़ितों की मदद को तैयार रहते हैं। ऐसे ही कुछ युवाओं ने 'सपोर्ट हेल्पिंग हेंड' के जरिये मदद का सिलसिला शुरू किया है। ये ग्रुप न सिर्फ मरीजों को फोन पर चिकित्सकों के परामर्श की सुविधा उपलब्ध करवा रहा है बल्कि चिकित्सिय जांच, एंबुलेंस सेवा भी उपलब्ध करा रहा है। कोरोना संक्रमित मरीजों को कोरोना किट और भोजन की निशुल्क सुविधा भी दे रहे हैं ये युवा।

ग्रुप से जुड़े सचिन चतुर्वेदी का कहना है कि कोरोना संक्रमण से ग्रसित मरीजों को छोड़कर अन्य गंभीर बीमारी से पीड़ित मरीज उनके माध्यम से वरिष्ठ चिकित्सकों से शाम सात से नौ बजे के बीच निशुल्क परामर्श ले सकते हैं। इसके साथ ही उन्होंने अपने ग्रुप में कुछ लैब संचालकों को भी जोड़ा है। जिनके माध्यम से काफी कम दामों पर एमआरआई, सिटी स्कैन, एंबुलेंस सेवा आदि उपलब्ध करा रहे हैं। इतना ही नहीं, कोरोना संक्रमित कोई भी व्यक्ति उनकी टीम से यदि संपर्क करता है तो उसे निशुल्क कोरोना किट उपलब्ध कराई जा रही है, जिससे कि वह होम आइसोलेशन में रहकर इस बीमारी से लड़ सकें। इनको निशुल्क भोजन भी भिजवाने की भी सुविधा दे रहे हैं। उनका कहना है कि उनकी टीम का प्रयास है कि अधिक से अधिक लोगों को मदद मिल सके। ये कठिन दौर है। इसका हम सभी को मिलजुल कर सामना करना है। एक-दूसरे के साथ खड़े रहकर, उनके हौसले को बढ़ाना है। 

Edited By: Tanu Gupta