आगरा, जागरण संवाददाता।

शुक्रवार को सुबह से निकले सूरज की तेज चुभन से लोग दिनभर गर्मी और उमस से परेशान रहे। लेकिन देर शाम आंधी के साथ शुरू हुई झमाझम बारिश ने लोगों को गर्मी से राहत दी। इससे मौसम सुहावना हो गया। गेहूं की फसल को लेकर जरूर किसानों की धड़कन तेज हो गई।

सुबह आठ बजे के बाद धूप तेज होने लगी। दोपहर 12 बजे के बाद गर्म हवा और धूप ने लोगों को बेहाल कर दिया। इससे अधिकतम तापमान सामान्य 38 डिग्री सेल्सियस से तीन डिग्री सेल्सियस अधिक 41.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं, न्यूनतम तापमान 23.6 डिग्री सेल्सियस रहा।

शमसाबाद : देर शाम क्षेत्र में धूल भरी आंधी चलने लगी। सड़क पर चल रहे वाहनों की रफ्तार धीमी हो गई। करीब दस मिनट तक आंधी चली। जगनेर: शुक्रवार देर शाम को अचानक से मौसम ने करवट बदली। धूल भरी आंधी चलने के बाद हल्की सी बूंदाबांदी हुई। इससे मौसम सुहावना हो बन गया।

इरादतनगर :इरादतनगर में सुबह से मौसम साफ था, तेज धूप निकल रही थी। शाम होते ही मौसम ने करवट ले ली। बादल छा गए और धूल भरी आंधी चलने लगी। इससे किसान की धड़कने तेज होती गई।किसान का गेहू व भूसा खेत मे जो डला था। दस मिनट के बाद आंधी थमने से किसानों ने राहत की सांस ली।

किरावली: शुक्रवार शाम करीब आठ बजे तेज आंधी के साथ हुई 5 मिनट हुई बारिश से किसानों की सांसें थम गई। 40 प्रतिशत अभी किसानों की गेहूं की फसल खेतों में पड़ी है। उनको डर था कि तेज आंधी से उनकी फसल न बर्बाद हो जाए। आंधी में गिरा पेड़, बाल-बाल बचे गृह स्वामी

संसू बरहन: शुक्रवार साय 8 बजे ते•ा धूल भरी आंधी घड़ी सहजा में पूरन सिंह चौधरी के नोहरे के पास खड़ा पेड़ टूटकर गिर गया। जिसमें उनकी तीन भैंस दब गई। जबकि पास ही खड़े पूरन सिंह बाल-बाल बच गए। इसके साथ ही बाउंड्रीवाल भी टूट गई। वहीं, जिला पंचायत प्रत्याशी सतीश प्रधान के टीन शेड के थान हवा में उड़ गए। इसके साथ ही दस से बारह विद्युत पोल भी टूट गए। इसके चलते पूरा गांव अंधेरे में डूब गया। पूरन सिंह के अलावा अन्य लोगों की तीन सेड भी हवा में उड़ गए गनीमत यह रही कि कोई जनहानि नही हुई है ।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप