आगरा, जागरण संवाददाता। एसएसपी आफिस में मंगलवार को जनसुनवाई में 80 से अधिक शिकायतें आईं। इनमें से कई शिकायतें थानों पर सुनवाई न होने की थीं। एसएसपी सुधीर कुमार सिंह ने थानेदारों की फटकार लगाई। आफिस के बाहर बरामदे में कुर्सी डालकर एसएसपी ने दो घंटे की जनसुनवाई में दस मामलों में मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए।

जगदीशपुरा थाना क्षेत्र से पहुंचे शिकायतकर्ता ने कहा कि बेटी का रिश्ता 23 सितंबर 2021 को दिल्ली के युवक से किया था। 20 अक्टूबर 2021 को होटल में सगाई का कार्यक्रम हुआ। दिसंबर युवक और उसके स्वजन घर आए। दहेज में पांच लाख रुपये और कार की मांग की। यह नहीं देने पर शादी नहीं करने की बात कही।इस कारण शादी नहीं हो सकी। होटल में हुई सगाई में खर्च दो लाख से अधिक की रकम लड़के वालों से मांगी। आरोप है कि युवक और उसके स्वजन ने धमकी दी। थाने पर सुनवाई नहीं होने पर पीड़ित एसएसपी आफिस आया। मामले में मुकदमे के आदेश किए गए।

पारिवारिक मामले में परिवार परामर्श केंद्र में सुलह नहीं हुई। इसके बाद भी परिवार परामर्श केंद्र प्रभारी द्वारा मुकदमा दर्ज कराने को फाइल एसएसपी के सामने नहीं रखी। पीड़िता की बात सुनने के बाद एसएसपी ने मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए। साथ ही परिवार परामर्श केंद्र का प्रभार देख रहे इंस्पेक्टर को भी फटकार लगाई।

एसएसपी ने बताया कि जन सुनवाई में मंगलवार को 80 से अधिक मामले आए थे। इनमें से आधे से ज्यादा केस पारिवारिक विवाद के थे। दहेज उत्पीड़न के साथ जेठ की छेड़छाड़ की शिकायत थी। जिन मामलों में पीड़ित सीधे मुकदमे दर्ज कराना चाहते थे, उनमें आदेश देकर मुदकमे दर्ज कराए गए। वहीं बाकी मामलों में जांच कर कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं।

 

Edited By: Tanu Gupta