जागरण टीम, आगरा। देहात अंचल में डेंगू व बुखार का कहर जारी है। 24 घंटों में छह और की जान चली गई। इनमें पांच बच्चे व एक किशोर शामिल है। पिनाहट क्षेत्र में अब तक 32, बरहन में 14 और कुआंखेड़ा में चार की बुखार से मौत हो चुकी है। वहीं फतेहाबाद थाने के तीन दारोगाओं को डेंगू हो गया है। तीनों का शहर के अस्पताल में इलाज चल रहा है।

बरौली अहीर के गांव कुआंखेड़ा निवासी बिजेंद्र सिंह के 14 वर्षीय बेटे हरिकेश की चार दिन पूर्व तबीयत खराब हुई थी। स्वजन ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया। चिकित्सक ने हरिकेश को डेंगू बताया था। शुक्रवार दोपहर उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। इसी गांव के मुकेश यादव के चार वर्षीय बेटे नमन को दो दिन से बुखार था। निजी अस्पताल के चिकित्सक ने उसे डेंगू बताया था। शुक्रवार को नमन ने दम तोड़ दिया। इसी गांव में नौ अक्टूबर को आठ वर्षीय आर्यन पुत्र उमेश और 10 अक्टूबर को 14 वर्षीय जाह्नवी पुत्री पिंटू की मौत हो चुकी है। श्यामो निवासी राजकुमार की छह वर्षीय बेटी रोशनी को चार दिन पहले बुखार आया था। स्वजन ने झोलाछाप से इलाज कराया। शुक्रवार को तबीयत बिगड़ने पर स्वजन रोशनी को अस्पताल ले जा रहे थे तभी उसकी मौत हो गई।

मलपुरा कस्बा निवासी शाहरुख के एक वर्षीय बेटे तौफीक को कई दिन से बुखार था। निजी अस्पताल में उसे भर्ती कराया गया था। शुक्रवार को तौफीक ने दम तोड़ दिया।

सैंया के गांव लादूखेड़ा निवासी मुकेश की छह माह की बेटी परिधि को तीन दिन पहले बुखार आया था। उसका इलाज चल रहा था। गुरुवार देररात परिधि की मौत हो गई।

खेड़ा राठौर के गांव पुरा गुमान सिंह में कुलदीप के नौ वर्षीय बेटे बलवीर की शुक्रवार सुबह को मौत हो गई। उसे एक सप्ताह से बुखार था। स्वजन ने उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया था। चिकित्सकों ने उसे आगरा रेफर कर दिया था। शुक्रवार को उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई।

Edited By: Jagran