आगरा, जेएनएन। मथुरा से लेकर अलीगढ़ के टप्पल तक गुरुवार रात को आइजी और एसएसपी ने चप्पा-चप्पा छानमारा। तीन बजे तक सर्च ऑपरेशन में पुलिस ने कई संदिग्ध भी उठा लिए। शुक्रवार को एक्सप्रेस वे के सर्विस रोड पर खोले गए ढाबों को भी चिन्हित कराया गया। अतिरिक्त फोर्स की तैनाती कर दी गई है।

गाडि़यों के टायर पंचर कर आगरा और कानपुर के कारोबारियों से हुई लूट की वारदात के बाद हरकत में आए पुलिस अधिकारियों ने यमुना एक्सप्रेस वे पर सुरक्षा का घेरा कस दिया गया है। रात को करीब 11 बजे आइजी ए सतीश गणेश और एसएसपी शलभ माथुर ने फोर्स के साथ दूसरी बार घटना स्थल पर पहुंचे। घटनास्थल के निरीक्षण में पाया गया कि जिस जगह लुटेरों ने वारदात की थी। वहां यमुना एक्सप्रेस वे के नीचे से ही ऊपर चल रहे वाहनों को देखा जा सकता है। संभावना यह है कि बदमाशों ने एक्सप्रेस के नीचे से दोनों कारोबारियों के वाहनों को अपना टारगेट बनाया। पटा में कील फंसाकर फेंकने का काम भी यहीं से किया गया। एसएसपी शलभ माथुर ने बताया कि तीन बजे तक मथुरा से लेकर जेवर तक सर्च ऑपरेशन चला। एक्सप्रेस वे किनारे बसे गांवों में पुलिस टीम ने दबिश दी। कुछ संदिग्धों को भी पूछताछ के लिए उठाया गया। यमुना एक्सप्रेस वे के कर्मचारियों से भी घटना को लेकर पूछताछ की गई है।

चिन्हित कराए गए ढाबे

यमुना एक्सप्रेस वे पर ढाबों पर बदमाशों के बैठने की आशंका है। इसलिए इन ढाबों को भी चिन्हित कराया जा रहा है। एसएसपी ने बताया कि करीब एक दर्जन ढाबे हैं, जो अवैध तरीके खुले हुए हैं। इनको बंद कराया जाएगा। वहीं, अन्य ढाबों की भी छानबीन कराई जा रही है।

अतिरिक्त फोर्स तैनात

एसएसपी ने बताया कि यमुना एक्सप्रेस वे पर पुलिस गश्त बढ़ा दी गई है। अतिरिक्त फोर्स भी तैनात किया गया है। इसके साथ ही यमुना एक्सप्रेस वे पर राहगीरों की सुरक्षा के लिए पुलिस मुख्यालय से भी अतिरिक्त फोर्स की मांग की जा रही है। सर्विस रोड पर अधिक फोकस किया जा रहा है। बदमाश सर्विस रोड पर से ही वारदात करते हैं।

चिन्हित किए कुछ स्थल

एक्सप्रेस वे पर कुछ ऐसे स्थल चिन्हित किए गए हैं कि जहां से शातिर वारदात कर सकते हैं। वहां पर सुरक्षा के लिए एक्सप्रेस वे पर रेङ्क्षलग और तार फैंङ्क्षसग भी कराने के लिए एक्सप्रेस वे अथॉरिटी से कहा गया है। पुलिस को भी सादे में लगाया गया है। एसएसपी ने बताया कि एक्सप्रेस वे पर वारदात करने वाले गैंग को चिन्हित करने के लिए पुलिस टीम लगी हुई है। उम्मीद है कि जल्द ही पुलिस को सफलता मिल जाएगी।

ये हुई थी वारदात

बुधवार देर रात 11 बजे आगरा के 380, सदर बाजार निवासी विक्रम गुप्ता अपनी कार से नोएडा से वापस लौट रहे थे। एक्सप्रेस वे के माइल स्टोन 63 पर उनकी कार पंचर हो गई। ड्राइवर छोटे खान पहिया बदलने लगे। तभी पीछे से बदमाश आ गए। बदमाशों ने विक्रम गुप्ता का मोबाइल, लैपटॉप, 8 हजार रुपए नकद , डेबिट और क्रेडिट कार्ड लूट लिए। वारदात को अंजाम देने के बाद बदमाश पैदल ही भाग निकले। विक्रम ने राहगीरों की मदद से लूट की सूचना पुलिस को दी। एसपी क्राइम राधेश्याम राय भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गए। लेकिन बदमाशों का पता नही चल सका। व्यापारी से लूट की घटना के बाद जब पुलिस हरकत में आई और आसपास के गांवों में दबिश देने लगी तो यह भी हल्ला मचा कि मथुरा के डीएम सर्वज्ञ राम मिश्र के साथ लूट हुई है। हालांकि ऐसी कोई जानकारी नहीं मिली।  

Posted By: Tanu Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस