आगरा, जागरण संवाददाता। गणतंत्र दिवस पर किसानों के आंदोलन के बीच ताजनगरी में ट्रैक्टर रैली निकालने को लेकर सपाइयों और पुलिस के बीच तीखी नोकझोंक हुई। किसानों के समर्थन में समाजवादी पार्टी ने 26 जनवरी को ट्रैक्टर रैली निकाली, जिसे पुलिस ने रोक दिया। जिलाध्यक्ष और महानगर अध्यक्ष के काफिलों को आगे नहीं बढ़ने दिया। ग्रामीण क्षेत्रों में जरूर सपाई गुपचुप तरीके से थोड़ी दूर के लिए ट्रैक्टर रैली निकालने में सफल रहे।

पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव के निर्देश पर सपा की जिला और महानगर इकाई ने 26 जनवरी को ट्रैक्टर रैली निकाली। पुलिस ने महानगर अध्यक्ष चौधरी वाजिद निसार को उनके घर ही में नजरबंद कर दिया। इससे गुस्साए पार्टी तमाम पार्टी कार्यकर्ता ट्रैक्टर लेकर रैली के रूप में उनके फतेहाबाद रोड स्थित आवास पर पहुंच गए। कार्यकर्ताओं ने यहां नारेबाजी शुरू कर दी। महानगर अध्यक्ष ट्रैक्टर पर सवार हो गए। उनके नेतृत्व में ट्रैक्टर थोड़े आगे ही बढ़े थे कि पुलिस ने उन्हें रोक दिया। इस पर कार्यकर्ताओं ने वहीं धरना दे दिया और नारेबाजी शुरू कर दी। जिलाध्यक्ष के नेतृत्व में सेवला क्षेत्र में ट्रैक्टर रैली निकाली गई। उन्हें भी कुछ दूर पर ही रोक दिया। जिलाध्यक्ष ने कहा कि सरकार किसानों का उत्पीड़न कर रही है। समाजवादी पार्टी किसानों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी है। कहा कि केंद्र सरकार किसानों के बीच पनप रहे असंतोष को समझ नहीं पा रही। उन्होंने कहा कि यह कानून किसानों के हित में नहीं हैं। लंबे समय से किसान दिल्ली में धरना दे रहे हैं, इसके बावजूद सरकार उनकी बात सुनने को तैयार नहीं है। 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021