Move to Jagran APP

आगरा में पिता और बेटी को कार से कुचलने की कोशिश में बढ़ीं पूर्व मंत्री चौ. उदयभान सिंह के पौत्र की मुश्किलें, कुर्की की तैयारी

Agra News पूर्व मंत्री के पौत्र के खिलाफ कुर्की उद्घाेषणा पुलिस को मिल गई है। हाईकोर्ट से मिली 21 दिन में समर्पण की राहत की समय सीमा खत्म हो चुकी है। शाहगंज पुलिस आरोपित के घर पर जल्दी ही मुनादी के साथ नोटिस चस्पा करेगी। आरोपित दो महीने से फरार चल रहा है। इलाहाबाद हाई कोर्ट में याचिका दायर करने पर उसे 21 दिन का समय दिया था।

By Jagran News Edited By: Abhishek Saxena Sun, 16 Jun 2024 07:45 AM (IST)
Agra News: पूर्व मंत्री उदयभान सिंह का पौत्र अभी तक फरार है।

जागरण संवाददाता, आगरा। जूता कारोबारी और उनकी बेटी को कार से कुचलने के मामले में फरार चल रहे पूर्व मंत्री चौधरी उदयभान सिंह के पौत्र दिव्यांश चौधरी की मुश्किलें बढ़ गई हैं। पुलिस ने 25 हजार के इनामी दिव्यांश चौधरी के खिलाफ शनिवार को न्यायालय से कुर्की उद्घोषणा का आदेश प्राप्त कर लिया। 

शाहगंज के ऋृषि मार्ग पर 15 अप्रैल को दिव्यांश चौधरी ने जूता कारोबारी और उनकी बेटी को कार से कुचलने का प्रयास किया था। कारोबारी ने दिव्याांश चौधरी के खिलाफ शाहगंज थाने में हत्या के प्रयास और जान से मारने की धमकी देने की धारा में मुकदमा दर्ज कराया था। घटना के विरोध और आरोपित की गिरफ्तारी को लेकर पंजाबी समाज ने जयपुर हाउस स्थित भाजपा ब्रज क्षेत्र कार्यालय का घेराव किया था।

21 दिन के लिए समर्पण का दिया था समय

दिव्यांश चौधरी ने स्थानीय न्यायालय से राहत नहीं मिलने पर इलाहाबाद हाई कोर्ट में अपने अधिवक्ता के माध्यम से याचिका प्रस्तुत की थी। हाई कोर्ट ने आरोपित को 21 दिन में स्थानीय न्यायालय में समर्पण करने को कहा था। इस दौरान पुलिस को कोई कार्रवाई नहीं करने का आदेश दिया था।

ये भी पढ़ेंः पश्चिमी उत्तर प्रदेश के दो दिग्गजों की भिड़ंत में हाईकमान ने लगाया ब्रेक; हार के बाद एक्शन के मूड में आई भाजपा

शाहगंज पुलिस ने 21 दिन तक आरोपित के समर्पण करने की प्रतीक्षा की। इस दौरान दिव्यांश चौधरी की ओर से हाई कोर्ट में एक और याचिका दायर कर मुकदमा खारिज करने की गुहार लगाई थी। जिसे कोर्ट ने खारिज कर दिया।हाई कोर्ट से मिली समय सीमा समाप्त होने के बाद पीड़िता के पिता जूता कारोबारी ने आरोपित पर कार्रवाई के लिए अधिकारियों के यहां प्रार्थना पत्र दिया था।

ये भी पढ़ेंः Haji Iqbal: कभी शहद और परचून की दुकान चलाता था अरबों का मालिक इकबाल, ईडी ने अब तक जब्त की 5,060 करोड़ रुपये की संपत्ति

न्यायालय में दिया था प्रार्थना पत्र

प्रभारी निरीक्षक शाहगंज अमित कुमार मान ने बताया कि मुकदमे की विवेचना इंस्पेक्टर क्राइम अरविंद तोमर द्वारा की जा रही है। पुलिस ने कुर्की पूर्व उद्घोषणा के लिए न्यायालय में प्रार्थना पत्र दिया था। हाई कोर्ट द्वारा दिए गए समय की सीमा समाप्त होने के बाद पुलिस ने दोबारा पैरवी की। न्यायालय ने कुर्की पूर्व उद्घोषणा का आदेश जारी कर दिया है। पुलिस आरोपित के घर पर मुनादी करा जल्द ही नोटिस चस्पा करेगी। आरोपित को एक महीने का समय दिया जाएगा। इस अवधि में पेश नहीं होने पर पुलिस कुर्की की कार्रवाई के लिए न्यायालय में प्रार्थना पत्र देगी।

पुलिस ने पूर्व मंत्री के घर से बरामद की थी कार

आरोपित दिव्यांश चौधरी ने जिस कार से जूता कारोबारी उनकी बेटी को कुचलने का प्रयास किया था।शाहगंज पुलिस ने कार को जयपुर हाउस से पूर्व मंत्री चौधरी उदयभान सिंह के घर से कार बरामद की थी। कार को अंदर छिपाकर रखा गया था।