आगरा, जागरण संवाददाता। पुलिस ने शनिवार की रात 11 बजे से अभियुक्तों और वांछितों के खिलाफ रविवार सुबह चार बजे तक अभियान चलाया। इस दौरान 80 टीमों ने धोखाधड़ी में वांछित बिल्डर समेत 68 लोगों को गिरफ्तार किया। जेल भेजने से पहले मेडिकल को गए बिल्डर की हालत बिगड़ने पर जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया।

रकाबगंज के छीपीटोला निवासी प्रथमेश जैन ने वर्ष 2003 में बोदला में अपार्टमेंट बनाकर फ्लैटों की बिक्री की थी। पुलिस के अनुसार इसमें बालूगंज निवासी वीरेंद्र कुमार ने भी एक फ्लैट बुक कराते हुए बिल्डर को तीन लाख रुपये पेशगी दिए थे।

वीरेंद्र ने वर्ष 2011 में बिल्डर से फ्लैट देने की कहा तो प्रथमेश का कहना था कि सारे फ्लैट बिक गए हैं। उसने वीरेंद्र से पेशगी में दी रकम वापस लेने की कहा। उसने रकम लेने से मना करते हुए बिल्डर के खिलाफ उपभोक्ता अदालत में वाद दायर कर दिया। उक्त मामले में बिल्डर के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी हुए थे।

पुलिस ने बिल्डर को गिरफ्तार किया। उसे रविवार को जिला अस्पताल मेडिकल के लिए भेजा था। इंस्पेक्टर विवेक त्रिवेदी के अनुसार वहां आरोपित द्वारा हालत बिगड़ने की शिकायत करने पर डॉक्टरों ने उसे अस्पताल में भर्ती किया है।

उधर, एसएसपी बबलू कुमार के आदेश पर शनिवार की रात 11 बजे से रविवार सुबह चार बजे तक वांछितों और अभियुक्तों के खिलाफ अभियान चलाया गया। उन्होंने गिरफ्तारी के लिए पुलिस की 80 टीमों को लगाया था। टीम ने पांच घंटे में 23 अभियुक्तों और 45 वांछितों को गिरफ्तार किया। एसएसपी का कहना है कि ये अभियान बीच-बीच में चलते रहेंगे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस