आगरा, जागरण संवाददाता। हरीपर्वत थाना इलाके में बुजुर्ग व्यापारी की हत्या और लूटपाट करने वाली कातिल लुटेरी दुल्हन के एक और साथी को पुलिस ने शनिवार को गिरफ्तार कर लिया। आरोपित पर 25 हजार रुपये का इनाम था। मामले में पुलिस कातिल दुल्हन समेत तीन आरोपितों को पहले ही जेल भेज चुकी है।

एसपी सिटी बोत्रे रोहन प्रमोद ने बताया कि गिरफ्तार वांछित का नाम अवधेश कुमार है। पह एटा के थाना कोतवाली देहात के गांव ढेहरी बडेरा का रहने वाला है। पुलिस के पूछताछ करने पर आरोपित ने बताया कि उसकी दोस्ती विजय उर्फ करु से है, जो कि फीरोजाबाद के थाना एका के गांव गोपालपुर का रहने वाला है। विजय ने उसे बताया कि आगरा में रहने वाले बुजुर्ग आढ़त व्यापारी किशन गोपाल अग्रवाल शादी करना चाहते हैं। वे फ्लैट पर अकेले रहते हैं। इसके बाद विजय ने व्यापारी की हत्याकर लूटने की साजिश रची। उसने यज्ञपाल की महिला मित्र नीलम यादव को किशन गोपाल अग्रवाल को दुल्हन की जगह दिखाने की योजना बनाई।

अवधेश ने बताया नीलम शादीशुदा है, लेकिन अपने पति से अलग रहती है। लाखों रुपये और जेवरात मिलने के लालच में वह इस साजिश में शामिल हो गई। साजिश के तहत बिना नंबर की कार से 12 अप्रैल की रात को नीलम, यज्ञपाल, विजय, सचिन आदि तिरंगा अपार्टमेंट पहुंचे। यहां चौकीदार के पूछने पर उन्होंने किशन गोपाल अग्रवाल को अपना फूफा बताया। इसके बाद नीलम से व्यापारी की शादी का नाटक किया। नीलम ने 12 अप्रैल की रात को सबके लिए खाना बनाया था। शादी की पार्टी के बाद नीलम और बाकी तीनों लोगों ने व्यापारी को कमरे में ले जाकर गला घोंट दिया। तिजोरी खोलकर उसमें रखे नकदी-जेवरात लूटकर ले गए थे।

एसपी सिटी ने बताया घटना का 24 अप्रैल को पर्दाफाश करके आरोपित नीलम यादव व यज्ञपाल सिंह को पुलिस ने जेल भेज दिया था। पुलिस ने 13 मई की तीसरे आरोपित सचिन और शनिवार को चौथे आरोपित अवधेश कुमार को दबोच लिया। हत्याकांड में वांछित अरुण समेत दो आरोपितों की तलाश जारी है।