जासं, आगरा: खंदौली के नहर्रा गांव में दारोगा प्रशांत की गोली मारकर हत्या के आरोपित को पुलिस ने शनिवार को रिमांड पर लिया। आरोपित को घटनास्थल पर लेकर पहुंची पुलिस ने उसकी निशानदेही पर देसी पिस्टल बरामद कर ली। पुलिस की विवेचना में सामने आया कि आरोपित के पास एक नहीं दो हथियार थे। उसने दारोगा पर दोनों हथियारों से फायरिग की थी। पुलिस को घटनास्थल से .32 बोर के दो खोखे मिले थे। इसके बाद विवेचक ने आरोपित को रिमांड पर लेने के लिए अदालत में प्रार्थना पत्र प्रस्तुत किया था। अदालत ने हत्यारोपित का छह घंटे का पुलिस कस्टडी रिमांड स्वीकृत किया था। पिस्टल बरामद होने के बाद पुलिस ने आरोपित को दोबारा जेल में दाखिल कर दिया।

खंदौली के गांव नहर्रा में 24 मार्च की शाम को सगे भाइयों शिवनाथ और विश्वनाथ के बीच खेत में आलू की फसल को लेकर विवाद हो गया था। तमंचा लेकर पहुंचा विश्वनाथ खेत में काम करने वाले मजदूरों को धमकी दे रहा था। जानकारी होने पर दारोगा प्रशांत यादव पुलिसकर्मियों के साथ वहां गए थे। आरोपित ने दारोगा पर गोली चला दी थी, जिससे उनकी मौत हो गई थी। दुस्साहसिक घटना से सनसनी फैल गई थी। पुलिस ने हत्यारोपित विश्वनाथ को 27 मार्च को मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया था।

दारोगा की हत्या की विवेचना क्राइम ब्रांच में तैनात इंस्पेक्टर राजेश्वर प्रसाद त्यागी कर रहे हैं। एसपी ग्रामीण सत्यजीत गुप्ता ने बताया कि शनिवार की सुबह पुलिस ने आरोपित को रिमांड पर लिया था। उसे लेकर वह घटनास्थल पर गई थी। वहां पर हत्यारोपित विश्वनाथ की निशानदेही पर पुलिस ने .32 बोर की कंट्री मेड पिस्टल (सीएमपी) बरामद की है।