आगरा, जागरण संवाददाता। डेंगू ने पैर पसार लिए हैं और फीरोजाबाद में सर्वाधिक संक्रमण है, इसके कारण प्लेटलेट्स घट जाती है। उपचार कराने के साथ इम्युनिटी बढ़ाने के संसाधन भी तलाशे जा रहे हैं। इसमें सर्वाधिक उपयोगी किवी को माना जा रहा है, जिसको प्लेटलेट्स बढ़ाने में सहयोगी माना जाता है, तो इसमें विटामिन-सी प्रचुर मात्रा में होता है। गुणों की खान होने के कारण किवी की मांग बढ़ी है, आगरा की कुल आवक में से 40 से 50 फीसद किवी फीरोजाबाद जा रही है।

आगरा मंडी में किवी दिल्ली और मुंबई से आती है। इस समय मुंबई से आवक हो रही है। दो प्रकार की किवी आ रही है। एक को इटली की कहते हैं, जो 30 पीस की ट्रे में आती हैं। वहीं दूसरी न्यूजीलेंड की कहलाती हैं, जो 24 पीस की ट्रे होती है। इटली वाली किवी की प्रतिदिन आवक साढ़े चार हजार से पांच हजार ट्रे तक हो रही है। वहीं न्यूजीलेंड वाली किवी की आवक 200 से 250 ट्रे प्रतिदिन आ रही हैं। थोक विक्रेता कपिल ने बताया कि कोरोना संक्रमण काल में किवी के थोक दाम एक हजार रुपये प्रति ट्रे से ऊपर चले गए थे। पिछले दिनों आवक कम थी, लेकिन अब आवक बढ़ गई है। इस समय डेंगू प्रभावित क्षेत्र में ज्यादा मांग है। कुल में से आधी ट्रे फीरोजाबाद चली जा रही हैं। थोक विक्रेता राजन ने बताया कि फीरोजाबाद में इन दिनों डेंगू का प्रकोप काफी है। इस कारण वहां किवी की मांग बढ़ी है। दो से ढाई हजार क्रेट फीरोजाबाद जा रही है। वहीं बची हुई ढाई हजार क्रेट आगरा और मंडल के दूसरे जिलों में जा रही हैं।

थोक में भी बढ़े दाम, फुटकर में जमकर मनमानी

इटली की किवी सिकंदरा थोक मंडी में 650 रुपये प्रति ट्रे है। वहीं न्यूजीलैंड की ट्रे का दाम भी 650 रुपये है। इटली की ट्रे पर 100 तो न्यूजीलैंड की ट्रे पर 50 रुपये 15 दिन में बढ़ गए हैं। वहीं फुटकर बाजार में किवी का कोई निर्धारित रेट नहीं है। विक्रेता मनमाने दाम वसूल रहे हैं। पिछले दिनों 30 से 32 रुपये प्रति पीस बिक रहा था। वहीं अब संजय प्लेस में 45 से 50 रुपये प्रति पीस किवी बिक रही है, तो खंदारी हनुमान चौराहे, कमला नगर में किवी का दाम 50 से 55 रुपये प्रति पीस है।

नारियल पानी का सेवन बढ़ा

डेंगू के उपचार के दौरान चलने वाली दवाओं से पीडि़त के खाने-पीने की इच्‍छा भी खत्‍म हो जा रही है। दवाओं की गर्मी को दूर करने और शरीर को ऊर्जा प्रदान करने के इरादे से नारियल पानी का सेवन भी बढ़ गया है। सिकंदरा मंडी में दक्षिण भारत रोजाना एक ट्रक भरकर नारियल भरकर आ रहे हैं, शाम होने तक यह ट्रक खाली हो जा रहा है। खुदरा बाजार में इसका भाव 70 रुपये नारियल तक पहुंच गया है। जबकि थोक में यही नारियल 40 से 45 रुपये तक है। आगरा के अलावा फीरोजाबाद और मथुरा को भी यहां से नारियल पानी की सप्‍लाई हो रही है।

Edited By: Prateek Gupta