आगरा, जागरण संवाददाता। हाउस टैक्स को लेकर अक्सर नगर निगम प्रशासन पर आरोप लगते रहते हैं। कई बार विवाद भी हो जाते हैं। अब निगम प्रशासन के भरोसे नहीं रहना पड़ेगा बल्कि लोग खुद ही हाउस टैक्स तय कर सकेंगे। नगर निगम ने पहले चरण में सभी भवनों का रिकार्ड ऑनलाइन किया, इसके बाद अब टैक्‍स की कैलकुलेशन के साथ जमा किए जाने की सुविधा भी ऑनलाइन किए जाने की तैयारी है। टैक्स की अदायगी न करने वाले भवन स्वामियों पर सख्त कार्रवाई होगी।

इस वित्तीय साल में नगर निगम प्रशासन ने 60 करोड़ रुपये की हाउस टैक्स की वसूली का लक्ष्य रखा है। पिछले वित्तीय साल में यह 50 करोड़ रुपये था। निगम प्रशासन ने अब तक 28 करोड़ रुपये की वसूली कर ली है। वर्तमान में सौ वार्डों में 3.20 लाख भवन स्वामी हैं। मेयर नवीन जैन ने बताया कि जल्द ही निगम प्रशासन नया एप लांच करने जा रहा है। यह एप गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकेगा। भवन स्वामी को एप में निर्धारित जानकारी फीड करनी होगी। फिर खुद-ब-खुद हाउस टैक्स तय हो जाएगा। इसका मिलान निगम के दस्तावेजों से एक बार किया जाएगा। उन्होंने बताया कि भवन स्वामी घर बैठे हाउस टैक्स जमा कर सकते हैं। इस सुविधा के आरंभ होने से शहरवासियों को बड़ी सहूलियत मिलेगी।  

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस