आगरा, जागरण संवाददाता। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआइ) द्वारा संरक्षित स्मारकों पर एडीए द्वारा लागू पथकर की टिकट भी पर्यटक अब आनलाइन बुक कर सकेंगे। एडीए ने गुरुवार को आनलाइन टिकट व्यवस्था का शुभारंभ किया। टिकट पर क्यूआर कोड प्रिंट होगा, जिसे स्मारकों पर तैनात एडीए के कर्मचारी अपने स्मार्ट फोन से स्कैन करेंगे।

आगरा देश का एकमात्र शहर है, जहां पर्यटकों को स्मारक देखने के लिए एएसआइ के प्रवेश शुल्क के अलावा एडीए द्वारा वसूला जाने वाला पथकर चुकाना होता है। ताजमहल की टिकट में तो पथकर शामिल है, लेकिन अन्य स्मारकों पर ऐसी व्यवस्था नहीं है। वहां एडीए द्वारा अलग से टिकट बेचा जाता है। पिछले वर्ष कोरोना काल में गृह व स्वास्थ्य मंत्रालय की गाइडलाइन के अनुसार एएसआइ ने केवल आनलाइन टिकट बुकिंग की थी। सिस्टम के अभाव में एडीए ऐसा नहीं कर सका था। एएसआइ ने एडीए को पथकर की आनलाइन टिकट बुकिंग की व्यवस्था करने को कहा था। गुरुवार को एडीए उपाध्यक्ष राजेंद्र पेंसिया ने पथकर की ई-टिकट प्रणाली का शुभारंभ किया। उन्होंने स्वयं टिकट बुक की और आनलाइन पैमेंट किया। टिकट पर परिवार के मुखिया का नाम, मोबाइल नंबर, शहर, आइडी प्रूफ और उसका नंबर अंकित होगा। एक बार उपयोग होने के बाद और निर्धारित तिथि से पूर्व टिकट उपयोग में नहीं लाया जा सकेगा।

एडीए उपाध्यक्ष राजेंद्र पेंसिया ने बताया कि एडीए की वेबसाइट या www.eticketagra.in से पथकर की टिकट बुक की जा सकती है। एचडीएफसी बैंक ने इसके लिए सोफ्टवेयर तैयार किया है। स्टाफ को ट्रेनिंग दी जा रही है।

इन स्मारकों पर लागू है पथकर

स्मारक, भारतीय, विदेशी

ताजमहल, 10, 500

आगरा किला, 10, 50

फतेहपुर सीकरी, 10, 10

सिकंदरा, 5, 10

एत्माद्दौला, 5, 10

नोट: विदेशी पर्यटकों के पास ताजमहल का सेम डे का टिकट होने पर अन्य स्मारकों पर पथकर नहीं लिया जाता है। 

Edited By: Tanu Gupta