आगरा, जागरण संवाददाता। संभागीय परिवहन विभाग अब ड्राइविंग लाइसेंस की तर्ज पर रजिस्टेशन सर्टिफिकेट (आरसी) भी स्मार्ट बनाने जा रहा है। आरसी में चिप और क्यूआर कोड होगा। ये ही नहीं इसमें ड्राइ¨वग लाइसेंस, वाहन की क्षमता और इंश्योरेंस का विवरण भी दर्ज होगा। इससे वाहन चोरी की घटनाओं पर भी अंकुश लगेगा।

स्मार्ट आरसी का आकार ड्राइविंग लाइसेंस की तरह ही होगा, जिसे जेब में रखा जा सकेगा। अब तक आरसी में सिर्फ वाहन में बैठने की क्षमता का विवरण ही होता था लेकिन नई व्यवस्था में बैठने की क्षमता के साथ स्लीपर क्षमता आदि का विवरण भी दर्ज होगा। वाहन में यदि सीएनजी या एलपीजी की किट लगी है तो उसका विवरण भी होगा।

ओवरलोडिंग और चोरी पर लगेगी लगाम

इस स्मार्ट कार्ड आरसी में सभी जानकारियां उपलब्ध होने के कारण ओवरलोडिंग और वाहनों की चोरी के मामलों में कमी आएगी। वाहन से संबंधित सभी रिकॉर्ड ऑनलाइन होने के कारण अधिकारी कहीं पर भी मोबाइल एप के माध्यम से सभी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

जल्द शुरू हो सकती है प्रक्रिया

स्मार्ट कार्ड की तरह आरसी बनाने की प्रक्रिया जल्द शुरू हो सकती है। एआरटीओ प्रशासन अनिल कुमार सिंह ने बताया कि इस व्यवस्था में वाहन से संबंधित पूरा डाटा ऑनलाइन हो जाएगा। शासन स्तर पर प्रक्रिया पर काम किया जा रहा है। टेंडर होने के बाद आरसी को स्मार्ट कार्ड की तरह बनाने पर काम शुरू होगा।

 

Posted By: Tanu Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस