आगरा, जागरण संवाददाता। अहमदाबाद में पीएम मोदी संग ट्रंप परिवार मेहमान नवाजी का लुत्फ उठाएगा तो आगरा में पूरा परिवार प्रेम की निशानी ताजमहल का दीदार करेगा। इसमें ट्रंप, उनकी पत्नी मेलानियां, बेटी इवांका और दामाद होंगे। ट्रंप होटल अमर विलास से ताज के पूर्वी गेट तक गोल्फ कार्ट से जाएंगे। इस दौरान उनके काफिले में 15 गोल्फ कार्ट रहेंगी।

डोनाल्ड ट्रंप के ताज भ्रमण के दौरान कोई खलल न हो, इसे देखते हुए सोमवार सुबह साढ़े दस बजे के बाद पर्यटकों की एंट्री बंद हो जाएगी। इस समय तक ताज परिसर में पहुंचने वाले पर्यटकों को भी दोपहर 12 बजे तक ताज परिसर से बाहर आ जाना होगा। ताज का हुस्न पाश्र्व में बहती यमुना के बगैर अधूरा है। यह हुस्न दोबाला (बढ़ाने) करने के लिए सूखती यमुना में पानी छोड़ा गया है। ट्रंप को ये यमुना लबालब नजर आएगी।

ट्रंप का एयरफोर्स-वन विमान खेरिया एयरपोर्ट पर दोपहर बाद साढ़े चार बजे उतरेगा। ताजनगरी में वे 2.15 घंटा रुकेंगे। वे साढ़े छह बजे दिल्ली के लिए रवाना हो जाएंगे। अमेरिकी राष्ट्रपति फव्वारों के किनारे बने हुए पाथवे पर चलते हुए मुख्य मकबरे तक जाएंगे। उनके दीदार के दौरान सभी फव्वारे चलेंगे। मुख्य मकबरे पर सामने स्थित दरवाजे (दक्षिणी दिशा) से वह कब्रों वाले कक्ष में प्रवेश करेंगे। यहां परकोटे में शाहजहां व मुमताज की कब्रों को देखने के बाद इसी रास्ते से वापस आएंगे।

ये है कार्यक्रम :

-4.30 बजे खेरिया एयरपोर्ट पर आएंगे।

-4.40 बजे एयरपोर्ट से होटल अमर विलास रवाना होंगे।

-5.00 बजे होटल अमर विलास पहुंचेंगे।

-05.05 बजे होटल से ताजमहल के लिए रवाना होंगे।

-05.10 बजे ताजमहल में प्रवेश करेंगे।

- 06.10 बजे तक ताजमहल में भ्रमण करेंगे।

-06.15 बजे होटल में वापसी।

-06.20 बजे होटल से एयरपोर्ट के लिए वापसी।

-06. 45 बजे एयरफोर्स वन विमान उड़ान भर लेगा।

पांच स्तरीय सुरक्षा चक्र में रहेंगे ट्रंप

अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रंप की सुरक्षा आम कल्पना से भी परे होगी। वह पांच स्तरीय सुरक्षा घेरे में रहेंगे। जमीन भले ही आगरा की होगी मगर सुरक्षा के लिहाज से आसमान तक कब्जा अमेरिकी एजेंसियों का ही रहेगा। अमेरिकी रक्षा मंत्रालय पेंटागन पूरी सुरक्षा व्यवस्था को कमांड और कंट्रोल करता रहेगा। ट्रंप जितनी देर आगरा में रहेंगे, एयरफोर्स वन का इंजन तब तक बंद नहीं होगा। उनकी सुरक्षा कुछ इस तरह से होगी।

राष्ट्रपति की सुरक्षा में अमेरिकी हेलीकाप्टर मरीन वन का भी प्रयोग होगा। हालांकि यहां ट्रंप के सड़क मार्ग से जाने का कार्यक्रम है। फिर भी एहतियातन मरीन हेलीकॉप्टर तैयार रखा जाएगा। ट्रंप का काफिला 70 गाडिय़ों का रहेगा। अमेरिकी राष्ट्रपति की फ्लीट में क्लोज एसॉल्ट टीम (सीएटी) अमेरिकी सुरक्षा एजेंसी की रहेगी। इसके बाद एनएसजी कमांडो फ्लीट में रहेंगे। उनकी फ्लीट की 20 कारें अमेरिका से ही लाई गई हैं। काफिला में भारतीय सुरक्षा एजेंसियों की महज दर्जनभर कार रहेंगी।

ये हैं सुरक्षा इंतजाम

- पहले दो घेरों में अमेरिकी सुरक्षा एजेंसी रहेगी।

- तीन घेरों में एनएसजी और चेतक कमांडो सुरक्षा व्यवस्था संभालेंगे।

- मानवरहित हवाई हमले को रोकने के लिए अनमैंड एंटी एरियल व्हीकल डिफेंस सिस्टम इस्तेमाल किया जाएगा।

- ताज के पास रहेगी एंटी एयरक्राफ्ट गन, झाडिय़ों में स्नाइपर रहेंगे मौजूद।

- ताज के पाश्र्व में यमुना पार मेहताब बाग की ओर भी कुछ स्नाइपर तैनात किए जाएंगे।

- अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के लिए चार सेफ रूम बनाए गए हैं।

- ट्रंप की सुरक्षा में करीब पांच हजार जवान तैनात रहेंगे। 

Posted By: Prateek Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस