आगरा, जेएनएन। एटीएम केबिन में मदद के नाम पर पल भर में एटीएम कार्ड बदलकर चपत लगाने वाले गैंग के दो सदस्‍यों को पुलिस ने पकड़ा है। ये शातिर मथुरा, अलीगढ़ और एटा में एटीएम कार्ड बदल कर लोगों के बैंक खातों से नकदी उड़ा चुके हैं। उनसे 27 एटीएम कार्ड, छह सौ ग्राम नशीला पदार्थ और ढाई हजार रुपये नकद बरामद किए गए हैं। एटीएम कार्ड से ठगी का रास्‍ता भी इन्‍होंने बेहद शातिर चुना है।

थाना जमुनापार के गांव सोनई टप्पा निवासी देवी का एटीएम कार्ड बदल कर छह दिसंबर को 32000 रुपये और 26 अक्टूबर को रोशन विहार कॉलोनी निवासी जयकृष्ण का एटीएम कार्ड बदल कर 2500 हजार रुपये उनके बैंक खाते से निकाल लिए थे। दोनों पीडि़तों ने थाना जमुनापार में मुकदमा दर्ज कराया था। इंस्पेक्टर जमुनापार राजीव वर्मा ने बताया कि एटीएम कार्ड बदल कर लोगों के बैंक खातों से नकदी उड़ाने वाले गिरोह की तलाश करने के लिए एसआइ रोहित कुमार, विजय कुमार और कांस्टेबल इमरान खां व पवन कुमार को लगाया गया था। लक्ष्मीनगर तिराहे से संतोष उर्फ सनी पुत्र शिवनारायण निवासी कटरा मठ थाना सोरो जिला कासगंज और अलीगढ़ जिले के थाना पाली के गांव खरऊखेड़ा निवासी वीरेश पुत्र पप्पू को गिरफ्तार किया है। पूछताछ में दोनों ने बताया कि वह एटीएम मशीन में फेवीकॉल डाल देते थे। इससे एटीएम कार्ड काम नहीं करता था। जब कोई एटीएम कार्ड से पैसे नहीं निकाल पाता था, तब वह उसकी मदद करने के बहाने उसका एटीएम कार्ड और पिन नंबर की जानकारी कर लेते थे। इसी बीच उसका एटीएम कार्ड बदल देते थे। इसके कुछ देर बाद ही वह दूसरे एटीएम कार्ड से जाकर नकदी निकाल लेते थे। बताया कि आरोपित ने पुलिस को यह भी जानकारी दी है कि वे मथुरा, एटा, अलीगढ़ समेत कई जिलों में एटीएम कार्ड बदल कर लोगों के बैंक खातों से नकदी पार करते हैं। वीरेश के खिलाफ पांच और संतोष के खिलाफ 18 मुकदमा दर्ज हैं।  

Edited By: Prateek Gupta