आगरा, जेएनएन। दक्षिण भारतीय परंपरा के संवाहक श्रीरंगजी मंदिर में चल रहे ब्रह्मोत्सव में गुरुवार को ब्रज की होली का अनोखा नजारा देखने को मिला। हर दिन अलग-अलग स्वरूपों में भक्तों को दर्शन दे रहे भगवान श्रीगोदारंगमन्नार हुरियारे बन कांच के विमान में विराजमान हो मंदिर से निकले तो भक्तों संग जमकर होली का आनंद लिया।

वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ मंदिर सेवायतों ने आराध्य को कांच के विमान में विराजमान कराया, तो जयकारों से मंदिर परिसर गुंजायमान हो उठा। धीरे-धीरे सवारी आगे बढ़ी तो भक्तों की भीड़ भी बढऩे लगी। हर कोई भगवान के रंग में रंगने को उत्सुक। कांच के विमान में सवार मंदिर के सेवायत जब पिचकारी से टेसू के रंगों की बौछार करते तो भक्त उनकी ओर दौड़ पड़ते। चारों ओर होली का नजारा नजर आने लगा। यात्रा में हाथी पर बैठकर सेवायत गुलाल की वर्षा भी करते रहे। आसमान में उड़ता गुलाल और पिचकारी से निकलते रंगों में सराबोर होकर सभी खुद को सौभाग्यशाली समझ रहे थे। रंगजी मंदिर से लेकर नगर निगम चौराहा तक हर ओर भक्तों की भीड़ और उड़ते गुलाल ने एकबार फिर शहर को होली के रंग में रंग दिया। करीब एक घंटे में बड़ा बगीचा पहुंची सवारी, फिर वहां ठाकुरजी को विश्राम कराया गया। यहां आरती के बाद एकबार फिर ठाकुरजी निकले भक्तों संग होली खेलने। देर शाम विशालकाय चांदी के हाथी पर सवार होकर ठाकुरजी नगर भ्रमण को निकले तो नगरवासियों ने जगह-जगह आरती उतारकर उनका पूजन किया।

मेले में बढ़ी रौनक

रथ के मेला में शाम ढलते ही हुजूम उमड़ रहा है। झूला, चरख का आनंद लेते बच्चे और युवाओं के बीच महिलाओं की भी भीड़ मेले में रौनक बढ़ा रही है। मेले के कारण रंगजी मंदिर से लेकर नगर पालिका चौराहा तक का इलाका श्रद्धालुओं से गुलजार नजर आ रहा है।  

Posted By: Prateek Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस