11-07-2020 शनिवार रात तक आगरा में कुल कोरोना संक्रमित 1388, 92 की मौत, 1130 लोग हुए ठीक।

आगरा, जागरण संवाददाता। ताजनगरी में शनिवार को लॉकडाउन रहा, उसके बीच भी CoronaVirus संक्रमण के 14 नए मामले सामनेे आए हैं। कुल कोरोना संक्रमित अब 1388 हो चुके हैं। वहीं 75 वर्षीय बुजुर्ग की मौत होने से मृतक संख्‍या 92 पर ही टिकी है। वहीं शनिवार को 15 लोग और ठीक होकर घर लौटेे हैं, अब स्‍वस्‍थ होने वालों की संख्‍या 1130 हो चुकी है। वर्तमान में 166 एक्टिव केस शहर में हैं। आगरा में अब तक 29432

लोगों के सैम्पल लिए जा चुके हैं, इनमें से शुक्रवार तक 28921 लोगों के सैंपल हुए थे। स्‍वस्‍थ होने की दर 81.41 फीसद पर आ गई है। नए केसों के सामने आने से वर्तमान में कंटेनमेंट जोन बढ़कर 83 हो गए हैंं, जो गुरुवार तक 76 थे।

एसएन में सफल रही प्रदेश की पहली प्लाज्मा थैरेपी

एसएन मेडिकल कॉलेज में पहली प्लाज्मा थैरेपी सफल रही, प्लाज्मा चढाने के बाद मरीज की आक्सीजन मांग 50 फीसद कम हो गई है। इस तरह एसएन प्लाज्मा थैरेपी से कोरोना संक्रमित गंभीर मरीज का इलाज करने वाला प्रदेश का पहला राजकीय मेडिकल कॉलेज हो गया है।

हलवाई की बगीची निवासी 51 साल के कोरोना संक्रमित मरीज को आठ जुलाई को एसएन मेडिकल कॉलेज में भर्ती किया गया। इन्हें निमोनिया, रेस्परेट्री फेल्योर के साथ ही मधुमेह की समस्या थी। इसी दिन एसएन को इंडियन काउंसिल आफ मेडिकल रिसर्च आइसीएमआर से प्लाज्मा थैरेपी से इलाज करने की अनुमति मिल गई। सांस उखडने पर 5 लीटर प्रति मिनट आक्सीजन पर रखा गया। प्लाज्मा थैरेपी से इलाज करने के लिए एबी ब्लड ग्रुप के कोरोना को मात दे चुके दो लोगों की तलाश की गई। एसएन की ब्लड बैंक प्रभारी डॉ नीतू चौहान ने धाकरान चौराहा निवासी देव धाकरे और घटिया आजम खां निवासी क्रष्ण कुमार से संपर्क किया गया। इन दोनों ने नोएडा में प्लाज्मा डोनेट किया। मेडिसिन विभाग के डॉ अजीत चाहर ने नौ और 10 जुलाई को प्लाज्मा थैरेपी की दो डोज दी। प्लाज्मा थैरेपी की दो डोज का कोर्स पूरा होने के बाद 51 साल के मरीज सही होने लगे हैं। उनकी आक्सीजन की मांग 5 फीसद से कम होकर 2 फीसद रह गई है। पहले उनकी सांस उखड रही थी, अब वे आइसोलेशन वार्ड में पैदल चल पा रहे हैं।

कोरोना से ठीक होने के 28 दिन से 4 महीने तक प्लाज्मा डोनेट

कोरोना को मात दे चुके लोग प्लाज्मा डोनेट कर सकते हैं, 450 एमएल प्लाज्मा डोनेट कराया जाता है। हर मरीज को दो यूनिट प्लाज्मा दिया जाता है, मरीज का जो ब्लड ग्रुप है उसी ब्लड ग्रुप का प्लाज्मा चढाया जाता है। ऐसे में एक मरीज के लिए दो डोनर की जरूरत होती है। मगर, आगरा में अभी तक छह लोगों ने ही प्लाज्मा डोनेट किया है जबकि 1115 मरीज ठीक हो चुके हैं।

एसएन मेडिकल कॉलेज प्लाज्मा थैरेपी से कोरोना संक्रमित मरीज का इलाज करने वाला प्रदेश का पहला राजकीय मेडिकल कॉलेज है। थैरेपी के बाद मरीज की तबीयत में सुधार हुआ है। कोरोना से ठीक हो चुके मरीज प्लाज्मा डोनेट करें, जिससे अधिक से अधिक मरीजों की जान बचाई जा सके। यह एसएन की टीम के लिए बडी उपलब्धि है।

डॉ संजय काला, प्राचार्य एसएन मेडिकल कॉलेज

जुलाई में यूं बढ़ा आगरा में कोरोना का ग्राफ

01 जुलाई- 14 नए, कुल कोरोना संक्रमित 1241, 88 की मौत, 1031 लोग हुए ठीक।

02 जुलाई- 12 नए, कुल कोरोना संक्रमित 1253, 89 की मौत, 1034 लोग हुए ठीक।

03 जुलाई- 14 नए, कुल कोरोना संक्रमित 1267, 90 की मौत, 1040 लोग हुए ठीक।

04 जुलाई- 15 नए, कुल कोरोना संक्रमित 1282, 90 की मौत, 1053 लोग हुए ठीक।

05 जुलाई- 13 नए, कुल कोरोना संक्रमित 1295, 90 की मौत, 1059 लोग हुए ठीक।

06 जुलाई- 11 नए, कुल कोरोना संक्रमित 1306, 90 की मौत, 1081 लोग हुए ठीक।

07 जुलाई- 18 नए, कुल कोरोना संक्रमित 1324, 90 की मौत, 1087 लोग हुए ठीक।

08 जुलाई- 17 नए, कुल कोरोना संक्रमित 1341, 91 की मौत, 1091 लोग हुए ठीक।

09 जुलाई- 16 नए, कुल कोरोना संक्रमित 1357, 91 की मौत, 1099 लोग हुए ठीक।

10 जुलाई- 17 नए, कुल कोरोना संक्रमित 1374, 91 की मौत, 1115 लोग हुए ठीक।

Posted By: Prateek Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस