आगरा, जागरण संवाददाता। कोरोना से सुरक्षा की चेन बनाकर ही लड़ा जा सकता है। मगर, कुछ की लापरवाही यह सुरक्षा घेरा तोड़ रही है। आगरा रेंज के चार जिलों में एक अप्रैल से अब तक बेवजह घूमने वाले ऐसे 19909 लोगों ने लाकडाउन का उल्लंघन किया। इन जिलों में कुल 5457 मुकदमें दर्ज किए गए। इनमें सर्वाधिक आगरा जिले के हैं।

कोरोना संक्रमण रोकने को लाकडाउन किया गया है। इसके बाद भी कुछ लोग घरों से बेवजह निकल रहे हैं। कुछ तो मास्क भी नहीं लगा रहे। मंडल के चारों जिलों में इसको लेकर पुलिस चेकिग अभियान चला रही है। आइजी रेंज नवीन अरोरा ने बताया कि रेंज में अब तक लाकडाउन उल्लंघन के कुल 5754 मुकदमे दर्ज हुए हैं। इनमें अधिकांश आइपीसी की धारा 188 के तहत दर्ज किए गए हैं। इन सभी मुकदमों में कुल 19909 आरोपितों को नामजद किया गया है। आइजी का कहना है कि सभी मुकदमों में विवेचना चल रही है। विवेचना के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। ----

जिला मुकदमें आरोपित

आगरा 2521 7802

फीरोजाबाद 1625 5012

मथुरा 1306 5982

मैनपुरी 302 1113

सात लाख वाहनों के चालान, 4.17 करोड़ वसूला शमन शुल्क:

रेंज में चल रहे चेकिग अभियान में आगरा, मथुरा, मैनपुरी और फीरोजाबाद जिलों में कुल सात लाख आठ हजार 751 वाहनों के चालान किए गए। वहीं सात हजार 583 वाहन सीज किए गए। इस दौरान 4.17 करोड़ रुपये से अधिक शमन शुल्क वसूला गया। आगरा में 3.99 लाख वाहनों से 61.58 लाख रुपये, मथुरा में 1.52 लाख वाहन से 85.90 लाख रुपये, फीरोजाबाद में एक लाख वाहन से 63.23 लाख रुपये शमन शुल्क वसूला गया। मैनपुरी में 56 हजार से अधिक वाहनों से शमन शुल्क रेंज में सर्वाधिक 2.06 करोड़ रुपये वसूला गया।