आगरा, जागरण संवाददाता। कमला नगर में दवा व्यापारी रविकांत गुप्ता की खुदकुशी के मामले में पुलिस ने एक आरोपित बबलू दवाई वाले को पकड़ा है। पुलिस उससे पूछताछ कर रही है। व्यापारी द्वारा बबलू दवाई वाले पर 39 लाख रुपये बकाया बताए गए थे। पुलिस आरोपित से इतनी बड़ी रकम के लेनदेन का स्रोत जानने का प्रयास कर रही है। वहीं रविकांत गुप्ता के सट्टेबाजों के जाल में फंसने की चर्चा को आइजी और एसएसपी ने गंभीरता से लिया है। वह इस पूरे मामले में नजर रखे हुए हैं, जिससे कि आरोपितों के खिलाफसख सख्त कार्रवाई की जा सके।

कमला नगर ए-ब्लाक में फूल वाटिका में रहने वाले दवा व्यापारी रविकांत गुप्ता ने 26 जुलाई की रात को खुदकुशी कर ली थी। पुलिस ने अगले दिन बल्केश्वर श्मशान घाट से उसका शव जलती चिता से उठा लिया था। व्यापारी का सुसाइड नोट इंटरनेट मीडिया में वायरल होने की जानकारी स्वजन को मिली। जिसमें व्यापारी आगरा के रहने वाले बबलू दवाई, योगेश दवाई और दीपक भर्रा पर 69 लाख रुपये से ज्यादा रकम बताई थी। तीनों के रकम नहीं लौटाने पर रविकांत खुदकुशी करने के लिए मजबूर हुआ था। रविकांत की पत्नी चंचल गुप्ता ने बबलू दवाई, योगेश दवाई और दीपक भर्रा के खिलाफ कमला नगर थाने में मुकदमा दर्ज कराया है।

मुकदमे में नाम आने के बाद तीनों आरोपित भूमिगत हो गए थे। पुलिस ने एक आरोपित को बबलू दवाई वाले को पकड़ा है, उससे पूछताछ कर रही है। वहीं रविकांत गुप्ता द्वारा लिखे गए सुसाइड नोट को फोरेेंसिक लैब भेेजेगी। जिससे कि उसकी हैंड राइटिंग से मिलान किया जा सके। पुलिस बबलू दवाई वाले से यह जानने का प्रयास कर रही है कि पूरा धंधा कैसे चलता है। इसके पीछे कौन-कौन लोग हैं। पुलिस का मानना है कि आरोपित से पूछताछ में महत्वपूर्ण जानकारी मिल सकती हैं। जो उनके खिलाफ साक्ष्य बन सकती हैं।

आरोपितों की पुलिस वालों से थी दोस्ती

दवा व्यापारी के करीबी लोगों में चर्चा है कि वह सट्टबाजों के चंगुल में फंस गया था। जिसके चलते अपनी रकम गंवा बैठा। आरोपित उसके द्वारा जीती गई रकम नहीं लौटा रहे थे। उनकी कुछ पुलिसकर्मियों से दोस्ती है। वह त्योहारों पर उन्हें महंगे उपहार देते हैं। जिसके चलते बाकी बकाएदार भी खुलकर सामने नहीं आते हैं। रविकांत गुप्ता ने रकम का तकादा करना शुरू किया तो तीनों उसे धमकी देने पर उतर आए थे।

मददगारों ने किया किनारा

आरोपितों ने मुकदमे में तीनों का नाम आने के बाद उनके मददगारों ने भी किनारा कर लिया है। बताया जाता है कि इलाके के कुछ लोगों से मघ्यस्थ की भूमिका निभाने की कहा था। मगर, मामले पर अधिकारियों की नजर होने पर उन्होंने मना कर दिया।

इंटरनेट मीडिया में वायरल हुआ व्यापारी का खुदकुशी से पहले का वीडियो

इंटरनेट मीडिया में गुरुवार को व्यापारी का वीडियो वायरल हुआ है। यह वीडियो व्यापारी द्वारा खुदकुशी से पहले का बताया जा रहा है। जिसमें वह कह रहा है कि मेरे जो पैसे निकल रहे हैं बबलू दवाई, योगेश दवाई व सब लोगों पर उन्हें लिख दिया है। इन सब लोगों से मेरे पैसे दिला देना, इन लोगों के चलते ही मैं मर रहा हूं। बाजार के लोगों के भी रुपये लिख दिए हैं। चंचल का ध्यान रखना। सुसाइड नोट के बाद वायरल वीडियो सामने आने के बाद पुलिस को आरोपितों के खिलाफ महत्वपूर्ण साक्ष्य मिल गए हैं। इसके अलावा व्यापारी ने अपने भाइयों, पत्नी व रिश्तेदारों से भी आरोपितों द्वारा रकम नहीं लौटाने की बात कही थी। 

Edited By: Tanu Gupta