Move to Jagran APP

Agra: पत्नी के ब्यॉयफ्रेंड की खाैफनाक हत्या; टुकड़ों में दफनाया शव, शादी के बाद हाथों पर रचाई प्रेमी के खून की ‘हिना’

शादी के एक वर्ष बाद पत्नी के प्रेम संबंधों की भनक पर बौखलाए पति ने खौफनाक तरीके से घटना को अंजाम दिया। पत्नी के जरिए प्रेमी को बुलवाया। इसके बाद आरी से गला काट डाला। शरीर के अन्य हिस्से भी अलग-अलग कर शव को दफना दिया। गुमशुदगी दर्ज होने के बाद सुराग खोजते हुए एटा पुलिस प्रेमिका के पति तक पहुंच गई। ताजगंज पुलिस के साथ मिलकर उसे दबोच लिया।

By Jagran News Edited By: Abhishek Saxena Tue, 09 Jul 2024 02:02 PM (IST)
Agra: पत्नी के ब्यॉयफ्रेंड की खाैफनाक हत्या; टुकड़ों में दफनाया शव, शादी के बाद हाथों पर रचाई प्रेमी के खून की ‘हिना’
हत्यारोपित की निशानदेही पर शव बरामद करने को अकबरपुर बिजलीघर के पास जेसीबी से खोदाई कराती पुलिस l जागरण

जागरण संवाददाता, आगरा: एटा के युवक की हत्या उसी दिन कर दी थी, जिस दिन वो प्रेमिका से मिलने पहुंचा था। पुलिस की पूछताछ में आरोपित ने खाैफनाक घटना के राज खाेले हैं। पुलिस ने खोदाई कर कंकाल बरामद करते हुए दंपती को गिरफ्तार कर लिया। घटना में शामिल अन्य लोगों की तलाश की जा रही है।

एटा के सकीट थाने के मोहल्ला खरा कस्बा निवासी 20 वर्षीय दिलीप शाक्य पुत्र कामता प्रसाद पांच जून की दोपहर को घर से बिना बताए निकला था। तीन दिन तक तलाश के बाद दिलीप की मां नीरज देवी ने आठ जून को सकीट थाने में गुमशुदगी दर्ज कराते हुए अनहोनी की आशंका जताई।

पुलिस को दिलीप के मोबाइल की आखिरी लोकेशन ताजगंज क्षेत्र में मिली। इसके साथ ही कॉल डिटेल में जो मोबाइल नंबर मिला, वह हिना नाम की युवती का था। पड़ोस में रहने वाली हिना की एक साल पहले ताजगंज के अकबरपुर निवासी गोविंद के साथ हुई थी। सकीट थाना पुलिस की टीम रविवार रात एक बजे ताजगंज थाना पहुंची और पूरी घटना बताई। इसके बाद दबिश देकर हिना और उसके पति गोविंद को हिरासत में लेकर कई घंटे तक पूछताछ की।

हत्यारोपित की निशानदेही पर शव बरामद करने को अकबरपुर बिजलीघर के पास जेसीबी से खोदाई कराने पहुंची पुलिसl

चार भाइयों में तीसरे नंबर के थे दिलीप

दिलीप चार भाइयों में तीसरे नंबर के थे। स्वजन ने बताया कि वह मजदूरी करते थे। काम के सिलसिले में अक्सर कई दिन तक बाहर रहते थे। जिसके चलते तीन दिन तक उसे अपने स्तर से ही तलाशते रहे। दिलीप का मोबाइल लगातार बंद रहने से उन्हें अनहोनी की आशंका हुई।

पुलिस की लापरवाही से लगा एक महीना

सोमवार सुबह दिलीप के परिवार वाले ग्रामीणों के साथ मिलकर एसएसपी राजेश सिंह के पास पहुंचे। दिलीप के पिता का कहना था कि हमने पुलिस को बता दिया था, लेकिन पुलिस ने उनकी शिकायत को गंभीरता से नहीं लिया। यदि पुलिस गंभीर होती तो एक महीने का समय नहीं लगता। उधर मुहल्ला खरा में कामता प्रसाद के घर खासी भीड़ जुट गई। शाम तक शव आने का इंतजार किया जाता रहा। बाद में पुलिस ने बताया कि दिलीप का शव नहीं उसका कंकाल मिला है। कपड़ों से उसकी पहचान की गई।

दिलीप का फाइल फोटो l

हिना ने मिलने के बहाने बुलाया, गोविंद ने मार डाला

पुलिस के अनुसार गोविंद ने बताया कि दिलीप उसकी पत्नी हिना से लगातार फोन पर बातचीत करता था। कई बार उससे मिलने आ चुका था। दोनों के बीच संबंधों की जानकारी मिलने पर उसने दोस्तों के साथ मिलकर ठिकाने लगाने की साजिश रची। पांच जून को हिना से फोन कराकर बुलाया।

ये भी पढ़ेंः UP News: IPS अफसर की पहल से निपटा 60 वर्ष पुराना विवाद; बरेली में अब मोहर्रम के जुलूस के समय नहीं होगी टकराव की स्थिति

दोस्तों से मिलकर पीटा फिर आरी से काट दिया गला

रात गहराने के बाद उसे वह शमसाबाद रोड स्थित अकबरपुर फीडर के पास ले गया। वहां दोस्तों के साथ मिलकर मारपीट की और आरी से गला काट दिया। उसके शव को वहीं गड्ढा खोदकर दबा दिया था। हत्यारोपित की निशानदेही पर पुलिस ने सोमवार सुबह जेसीबी की मदद से गड्ढा खोदकर कंकाल के अवशेष और दिलीप की शर्ट और बेल्ट बरामद की। एसीपी सैयद अरीब अहमद ने बताया कि बरामद कंकाल को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। उसका डीएनए नमूना लेकर फोरेंसिक लैब भेजा जाएगा। आरोपितों को सकीट थाने की पुलिस अपने साथ ले गई है।

ये भी पढ़ेंः पीलीभीत में बाढ़; सेना के हेलीकॉप्टर से 10 लोग बचाए, पानी-पानी हुआ कलेक्ट्रेट; सीएम कर सकते हैं दौरा

हिना ने भी उगल दिए राज

सकीट पुलिस ने अनुसार हिना ने पूछताछ में बताया है कि उसने दिलीप को आगरा आकर मिलने को कहा था। उसने बताया कि पैसे नहीं है तो मैंने फोन पर पैसे ट्रांसफर कर दिए। दिलीप आगरा पहुंचा, लेकिन वह नहीं उसका पति उससे मिला। हिना ने कई और महत्वपूर्ण जानकारी दी है।

पहले दोस्ती हुई और फिर प्रेम

घर आमने-सामने था। पहले दोस्ती हुई और फिर प्रेम। हिना और दिलीप ने जीवन भर साथ रहने का वादा किया। तीन साल तक चले रिश्तों की भनक परिवार की लगी तो बखेड़ा हो गया। इसके बाद हिना आगरा शादी करने के लिए तैयार हो गई। शादी के बाद भी नजदीकियां चल रही थीं। मगर पांच जून को दिलीप गहरी साजिश का शिकार हो गया। शादी के बाद हिना ने अपने हाथों में प्रेमी के खून की “हिना” रचा ली। अब पति के साथ वह पुलिस की गिरफ्त में है।

सकीट कस्बा के मुहल्ला खरा में दिलीप और हिना का घर आमने-सामने है। तीन साल तक प्रेम संबंध चले, लेकिन परिवार को भनक लगी तो हैसियत की बात सामने आ गई। दिलीप पल्लेदार का बेटा था और हिना के परिवार की आर्थिक स्थिति मजबूत थी। एक साल पहले हिना परिवार के कहने पर आगरा के ताजगंज के अकबरपुर के रहने वाले गोविंद के साथ शादी करने को तैयार हो गई।

एक साल तक चोरी छुपे चलता रहा, लेकिन जब पति ने दबाव बनाया तो हिना भी दिलीप को बुलाने के लिए तैयार हो गई। सूत्रों के अनुसार जब दिलीप ने आगरा आने के लिए पैसे न होने की बात कही तो हिना ने उसे पैसे ट्रांसफर कर दिया। दिलीप को साजिश की भनक तक नहीं थी। दिलीप आगरा पहुंचा और उसी रात उसकी जान चली गई।