जागरण टीम, आगरा। युवक को गोली मारकर हमलावर भाग निकले। घायल को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मामले में तीन नामजद समेत चार के खिलाफ थाने में तहरीर दी गई है। पुलिस केस को संदिग्ध मानकर जांच कर रही है।

फतेहपुर सीकरी के गांव दूरा निवासी गीतम उर्फ सुनील पुत्र दीवान सिंह मंगलवार रात घर में सो रहा था। मध्यरात्रि में वह लघुशंका को उठकर बाहर आया तभी किसी ने उसे गोली मार दी। गोली की आवाज से स्वजन जाग गए। बाहर आए तो गीतम लहूलुहान पड़ा था। उसके बाएं हाथ से खून बह रहा था। उसे अस्पताल ले जाया गया। वहीं सूचना पर पुलिस भी पहुंच गई। पुलिस को मौके से तीन खाली कारतूस भी मिले। गीतम के भाई पदम सिंह ने गांव के ही तीन समेत चार लोगों पर आरोप लगाया है। पुलिस का कहना है कि केस संदिग्ध प्रतीत हो रहा है। गीतम पक्ष का गांव के दूसरे पक्ष से विवाद चल रहा है, उनके खिलाफ ही तहरीर दी गई है। दोनों पक्षों में हुए झगड़े में शांतिभंग की कार्रवाई की गई थी। गोलीकांड की जांच की जा रही है। घर में फंदे पर लटका मिला युवक का शव

जागरण टीम, आगरा। दंपती के बीच विवाद के बाद बुधवार दोपहर युवक ने कमरे में फंदे पर लटककर जान दे दी। मृतक की बहनों ने भाभी पर आरोप लगाए हैं। पुलिस फिलहाल तहरीर का इंतजार कर रही है।

खेरागढ़ के गांव बरबर निवासी 32 वर्षीय तेजवीर पुत्र कन्हैया मजदूरी करते थे। घर में उनकी पत्‍‌नी जीतू के अलावा तीन बेटों में आठ वर्षीय रमन, छह वर्षीय सोहित और तीन वर्षीय ऋषि हैं। तेजवीर चार बहनों पुष्पा, शीतन देवी, फूलो और नहनी के बीच अकेले भाई थे। बुधवार दोपहर दोनों बेटे रमन और सोहित खेलकर घर पहुंचे तो कमरा बंद था। खिड़की से झांका तो पिता तेजवीर की लाश लटकी देख चीखपुकार मच गई। लोगों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को फंदे से उतारा। पुलिस ने बताया कि कमरे में कुंदे से दुपट्टे का फंदा बनाकर खुदकुशी की गई है। शाम को थाने पहुंचीं चारों बहनों ने भाभी पर आरोप लगाए। कहा कि अक्सर दंपती के बीच विवाद हो जाता था। दो दिन पहले झगड़े के बाद भी वह छोटे बेटे ऋषि को लेकर कहीं गई थी, तब से घर नहीं लौटी थी। इससे परेशान होकर भाई ने खुदकुशी की है। पुलिस का कहना है कि जांच की जा रही है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप