आगरा, जेएनएन। एटा के एएसपी क्राइम राहुल कुमार की कोरोना से मौत हो गई। वे 45 वर्ष के थे। चार दिन पूर्व पाजिटिव आने पर सरकारी आवास पर ही होम आइसोलेट हो गए थे। बुधवार सुबह उनकी हालत अधिक खराब हुई तो उन्हें तत्काल जिला अस्पताल लाया गया जहां डाक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

एएसपी राहुल कुमार मूल रूप से इलाहबाद के रहने वाले थे। पिछले सप्ताह भाई की कोरोना से मौत हो गई थी उस समय अपने घर गए थे। यहां आकर कुछ तबियत खराब हुई तो जांच कराई जिसमें पाजिटिव पाए गए। इसके बाद उन्होंने अपने बच्चों को दिल्ली भेज दिया और खुद आइसोलेट हो गए। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि कल रात तक खुद को ठीक महसूस कर रहे थे। बुधवार सुबह उन्हें सांस लेने में तकलीफ हुई तो अधीनस्थ पुलिसकर्मियों को जानकारी दी। सरकारी आवास पर तैनात पुलिसकर्मी तत्काल उन्हें जिला अस्पताल ले आए जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। उधर परिवार को जब सूचना मिली तो इलाहबाद और दिल्ली से परिवार के सदस्य एटा के लिए रवाना हो गए। एसएसपी उदय शंकर सिंह, जिलाधिकारी डा. विभा चहल समेत जिले भर के आला अफसर जिला अस्पताल पहुंच गए। अस्पताल में तमाम पुलिस अधिकारियों का जमावड़ा है। परिवार का इंतजार हो रहा है। एएसपी ने अपने पीछे दो बच्चों और पत्नी को विलखते हुए छोड़ा है। एसएसपी ने बताया कि पुलिस परिवार के लिए यह बेहद दुख की घड़ी है। एएसपी के निधन से अपूर्णनीय क्षति हुई है।

मृदुभाषी थे राहुल

एसएसपी राहुल कुमार व्यवहार कुशल और मृदुभाषी थे। उन्होंने यहां रहते हुए हर पीड़ित की मदद की। तथा सर्विलांस की उन्हें अच्छी जानकारी थी। तमाम जटिल से जटिल केस उन्होंने निपटाए। उच्च अधिकारी उनसे सर्विलांस के मामले में मदद लेते थे। हाल ही में देहात कोतवाली के शराबकांड के खुलासे का श्रेय भी राहुल के ही नाम रहा। इस कांड ने पूरे अलीगढ मंडल में हलचल मचा दी थी।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप