आगरा, जागरण संवाददाता। नशीली दवाओं का अवैध धंधा करने वाले आगरा गैंग के सरगना विक्की अरोडा के गोदाम से चार बोरों में जब्त की गईं नशीली दवाएं रिडले लाइफ साइंसेज, दिल्ली की हैं। वह कंपनी का डिस्ट्रीब्यूटर रह चुका है, छह महीने पहले डिस्ट्रीब्यूटर का काम बंद कर दिया था। औषधि विभाग की टीम द्वारा कंपनी को भी नोटिस भेजा जा रहा है, अवैध गोदाम संचालित करने के मामले में मुकदमा दर्ज करने की कवायद शुरू हो गई है।

विक्की अरोडा को रिमांड पर लेकर आई पंजाब पुलिस की मौजूदगी में स्थानीय औषधि विभाग ने क्रष्णा एजेंसीज, एफ ब्लॉक कमला नगर में छापा मारा। यहां से चार बोरों में नशीली दवाएं जब्त की गईं। औषधि निरीक्षक राजकुमार शर्मा ने बताया कि जब्त की गईं नशीली दवाओं की निर्माता कंपनी रिडले लाइफ साइंसेज, नरेला दिल्ली है। जांच में सामने आया है कि छह महीने पहले तक विक्की अरोडा, संचालक क्रष्णा एजेंसीज रिडले कंपनी का डिस्ट्रीब्यूटर रहा है। वह उत्तर प्रदेश के कई जिलों में दवाओं की सप्लाई करता था। मगर, छह महीने पहले डिस्ट्रीब्यूटर का काम बंद कर दिया। इन दवाओं के सैंपल जांच को भेजे गए हैं, कंपनी को भी नोटिस जारी किया जाएगा।

उधर, क्रष्णा एजेंसीज के सामने पूछताछ के बाद विक्की अरोडा द्वारा संचालित अवैध गोदाम पर औषधि विभाग की टीम ने छापा मारा था। गोदाम में करोडों की दवाएं हैं, इसमें से 227 कार्टन दवाएं जब्त कर ली गईं। अवैध गोदाम के हॉल को सील कर दिया गया है। पंजाब पुलिस के दोबारा आगरा आने पर उसे खोला जाएगा। अवैध गोदाम संचालित करने पर मुकदमा दर्ज करने की कवायद शुरू कर दी गई है।

अवैध धंधा करने वाले भूमिगत, चिन्हित नहीं कर सका औषधि विभाग

आगरा गैंग से छोटे कारोबारी से लेकर बडा काम करने वाले खिलाडी जुडे हुए हैं। पंजाब पुलिस की कार्रवाई के बाद अवैध धंधा करने वाले भूमिगत हो गए हैं। वहीं, स्थानीय औषधि विभाग द्वारा आगरा गैंग से जुडे लोगों को चिन्हित नहीं किया जा सका है। गैंग का नेटवर्क फव्वारा दवा बाजार से लेकर पॉश कॉलोनी में बने गोदाम से जुडा हुआ है।

 

Posted By: Prateek Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस