आगरा, जागरण संवाददाता। अस्थाई ड्राइविंग लाइसेंस के आफलाइन छह स्लाट बुधवार से प्रभावी हो जाएंगे। अब एक दिन में आनलाइन कितने भी आवेदन किए जा सकते हैं, लेकिन आफलाइन छह ही आवेदकों के लाइसेंस बन सकेंगे। अब तक 78 लोगों के आफलाइन लाइसेंस बन रहे थे और आगामी तिथियों में छह स्लाट प्रतिदिन के हिसाब से तीन महीने की बुकिंग हो चुकी है। वहीं आनलाइन आवेदकों की संख्या में इजाफा नहीं हो रहा है, प्रतिदिन 50 आवेदक ही मिल पा रहे हैं।

अस्थाई ड्राइविंग लाइसेंस बनाने की प्रक्रिया को आनलाइन कर दिया गया है। आवेदक घर बैठे आवेदन कर सकता है, जिसमें आधार कार्ड की अनिवार्यता है। वहीं स्थानीय आधार कार्ड ही स्वीकारा जा रहा है, जिससे बाहर से आकर रहने, नौकरी करने वालों को आवेदन करने में मुश्किल आ रही है। वे आनलाइन स्लाट लेकर आफलाइन प्रक्रिया के लिए कार्यालय जा रहे हैं और रेंट एग्रीमेंट, बिजली बिल सहित दूसरे दस्तावेज के माध्यम से अपना स्थानीय पता बता रहे हैं।

बुधवार से शासन ने अस्थाई ड्राइविंग लाइसेंस के प्रतिदिन स्लाट घटाकर छह कर दिए हैं, जबकि आफलाइन के प्रतिदिन 15 से 20 और इससे अधिक स्लाट की मांग आ रही है। ऐसे में मुश्किल खड़ी हो रही है। विभागीय अधिकारियों के पास विभिन्न विभागों से जुड़े लोग रोज आवेदन की जानकारी लेने पहुंचते हैं, लेकिन स्लाट संख्या सीमित होने के कारण कोई हल नहीं निकल रहा है। आरआइ उमेश कटियार ने बताया कि बुधवार से छह स्लाट प्रभावी हो जाएंगे, आगामी तिथियों तक आवेदकों ने स्लाट बुक किए हैं। आनलाइन आवेदन में लोग सतर्कता नहीं बरत रहे हैं। प्रक्रिया पूरी करते समय अगर कोई दूसरा व्यक्ति कैमरे के आस-पास आ जाता है, ताे आवेदन रिजेक्ट हो जाता है। साथ ही वीडिया संदेश के माध्यम से बेहतर जानकारी दी जाती है। आनलाइन आवेदन का लाभ लेना चाहिए।

 

Edited By: Tanu Gupta