आगरा, जागरण संवाददाता। ताजनगरी को स्मार्ट सिटी बनाने के लिए हर गली, मुहल्ले और चौराहे को स्वच्छ बनाने का नारा सुनाई दे रहे हैं। दिनभर शहर में स्वच्छता रथ घूम-घूमकर लोगों को गीला कूड़ा व सूखा कूड़ा अलग-अलग फेंकने की अपील कर रहे हैं। ताकि खाद्य पदार्थो के कूड़े से खाद सीधे बनाई जा सके और ठोस कूड़े को प्रॉसेस किया जा सके, लेकिन इसको लेकर शहर में जागरूकता का कमी है। ज्यादातर लोग इसे लेकर ज्यादा गंभीर नहीं हैं। 100 लोगों पर किए गए सर्वे में 60 लोग गीला और सूखा कूड़ा अलग-अलग नहीं रखते। ऐसे में स्वच्छता जागरूकता पर सवाल खड़े होना लाजमी है। प्रश्न: क्या आप गीला और सूखा कूड़ा अलग-अलग रखते हैं। नौकरी पेशा

ना-6 हां-4

(राजकुमार शर्मा, प्रीति सक्सेना, राजू देसाई, नरेश कुमार, नवनीत बंसल, दीपू श्रीवास्तव, सुरेश सारस्वत, वीरेंद्र भारद्वाज, दिनेश उपाध्याय, अभिषेक शर्मा)। उद्यमी

ना-7 हां-3

(प्रदीप मेहता, अनिल बंसल, राजीव अग्रवाल, पुनीत अस्थाना, आरएस गोयल, सुशील अग्रवाल, रामकुमार त्रिलोकानी, जगपाल सिंह, संजय अग्रवाल, बीएस जैन)।

कारोबारी

ना-8 हां-2

(सचिन जिंदल, दीपक लालवानी, हिमांशु शर्मा, विपिन जैन, अमित अग्रवाल, दीपांकर जैन, आशीष कुंद्रा, अभिषेक तिवारी, नरेन्द्र सिंह, विकास पांडेय)। शिक्षक

ना-7 हां-3

(आलोक जैन, सपना शर्मा, रीनेश मित्तल, प्रशांत पाठक, संदीप परिहार, सौरभ गोस्वामी, निखिल जैन, अमित सिंह, राजीव जैन, डॉ. अरविंद यादव)। डॉक्टर

ना-3 हां-7

(डॉ. अरुण चतुर्वेदी, पूर्व अध्यक्ष आइएमए, डॉ. सुरेंद्र पाठक, डॉ. एके गुप्ता, डॉ. आशुतोष, डॉ. प्रीति पाठक, डॉ. सुरभि गुप्ता, डॉ. अरुण जैन, डॉ. गौरव शर्मा, डॉ. संध्या जैन, डॉ. एसके भारद्वाज)। सीए

ना-4 हां-6

सीए विनीत कालरा, सीए मनीष मल्होत्रा, सीए सचिव बूवना, सीए नितिन लालवानी, सीए नम्रता लालवानी, सीए मनोज चौधरी, सीए उष्मा चौधरी, सीए गौरव अग्रवाल, सीए ललित वर्मा, सीए कुमार गौरव।

अधिवक्ता

ना-6 हां-4

(लोकेंद्र शर्मा, सरदार बलवीर, प्रतीक चौधरी, संजय प्रकाश, श्यामवीर सिंह, राज मोहन, देव सिंह राजपूत, सतेंद्र शर्मा, अनिल कुलश्रेष्ठ, मोहित कुमार शर्मा)। महिला

ना-5 हां-5

(प्रतीक्षा श्रीवास्तव, नेहा गुप्ता, कीर्ति सिंह, दिव्या गुप्ता, संजना सिंह, प्रिया शर्मा, सुनीता सिंह, कंचन राजपूत, श्रुति तिवारी, अर्चना श्रीवास्तव)। यूथ

ना-6 हां-4

(मनीष, अंकित, लवकुश, राजेश, सचिन, देवेश, कपिल, रिहान, सनुज, विवेक) मजदूर

ना-8 हां-2

(देवकी प्रसाद, साहब सिंह, दिलीप चंद, किशनपाल, बैकुंठी, ऋषिपाल, घूरे सिंह, भूरा, लाला, रौदास, ओमपाल सिंह)।

आज का सवाल

क्या आप जानते हैं कि कचरा संग्रहित होने के बाद कहां जाता है?

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस