आगरा, जेएनएन। मैनपुरी छात्रा की दुष्कर्म के बाद हत्या के मामले में एसआईटी लगातार अपनी जांच को आगे बढ़ा रही है। कई सुबूतों को एकत्र करने के बाद एसआइटी ने छात्रा के परिजनों, रिश्तेदारों के अलावा कुछ अन्य लोगों का डीएनए टेस्ट कराने का निर्णय लिया है। सूत्रों के मुताबिक एसआइटी में ऐसे लोगों की सूची तैयार की है जिनका डीएनए टेस्ट कराया जाएगा। सोमवार को कुछ परिजनों व अन्य को जिला चिकित्सालय लाकर रक्त के नमूने लिए गए। एसआइटी की जांच किस मोड़ तक पहुंच चुकी है इसको लेकर ना तो एसआइटी कोई जानकारी देने के लिए तैयार है। ना ही अन्य अधिकारी इस संबंध में अपना मुंह खोलने के लिए तैयार हैंं। आखिर छात्रा की जांच का राजफाश कब तक हो सकेगा इस पर किसी को सही जानकारी नहीं है।

आरोपित प्रधानाचार्य से हुई पांच घंटे पूछताछ

छात्रा की दुष्कर्म और हत्या की घटना की जांच कर रही एसआइटी रात-दिन सुराग जुटाने में लगी है। एसआइटी के अधिकारियों ने अपनी नींद के घंटे भी घटा दिए हैं। दिन भर जांच के बाद रोजना आधी रात के बाद तक जांच कार्य किया जाता है। शनिवार को तो पूरी रात अधिकारी सोने नहीं गए। सुबह चार बजे तक जांच चलती रही।

शनिवार देर रात तक ट्रांजिट हॉस्टल में पंचनामा के गवाहों से पूछताछ की गई। फिर घटना की आरोपित प्रधानाचार्य को पति और पुत्र सहित तलब किया गया। रात करीब 11 बजे प्रधानाचार्य से पूछताछ का क्रम शुरू हुआ जो सुबह चार बजे तक चलता रहा। आइजी मोहित अग्रवाल ने प्रधानाचार्य से घटना को लेकर तमाम सवाल किए। उनके पति और पुत्र से पूछताछ की गई। प्रधानाचार्य के पति और पुत्र से रविवार को दिन में भी पूछताछ की गई।

एसआइटी ने अब तक मिले सुरागों को लेकर मंथन किया। शाम को फिर विद्यालय पहुंच कर पड़ताल शुरू कर दी गई। आइजी ने अब तक मिले सुरागों के आधार पर उठे सवालों के जवाब तलाशने के लिए पूछताछ की। विद्यालय का आगंतुक रजिस्टर व अन्य अभिलेखों को फिर से खंगाले गया।  

Posted By: Tanu Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस