आगरा, जागरण संवाददाता। जगदीशपुरा थाने के मालखाने से चोरी के मामले में पकड़े गए सफाईकर्मी अरुण की पुलिस हिरासत में मौत का मामला तूल पकड़ गया है। वाल्‍मीकि समाज के नेताओं और मृतक के स्‍वजनों ने दो करोड़ रुपये मुआवजे की मांग की है। वहीं समाजवादी पार्टी के अध्‍यक्ष अखिलेश यादव ने भी मामले में विरोध जताते हुए ट्वीट किया है।

जगदीशपुरा थाने के मालखाने में शनिवार रात को दरवाजे तोड़कर 25 लाख रुपये चोरी कर लिए गए थे। इस मामले में प्राइवेट सफाईकर्मी अरुण को पुलिस ने मंगलवार को पकड़ा था। पुलिस का कहना है कि अरुण से चोरी गई कुछ रकम भी बरामद हुई है। रात में उसकी तबियत बिगड़ी और उसे अस्‍पताल ले जाया गया, जहां अरुण की मृत्‍यु हो गई। सुबह जब ये खबर शहर में फैली तो वाल्‍मीकि समाज के लोग इकट्ठे हो गए। मृतक सफाई कर्मी अरुण के घर पर भीड़ जमा है। वहीं पोस्‍टमार्टम गृह पर भी वाल्‍मीकि समाज के नेता जुट गए हैं। समाज के नेताओं ने शासन से मृतक के स्‍वजनों को दो करोड़ रुपये मुआवजा में दिए जाने की मांग की है।

पोस्‍टमार्टम गृह पर जुटे वाल्‍मीकि समाज के नेता। 

दूसरी तरफ उत्तर प्रदेश स्थानीय निकाय कर्मचारी महासंघ ने कहा है कि वह आज वाल्मीकि जयंती को नहीं मनाएगा। वरिष्ठ उपाध्यक्ष विनोद इलाहाबादी का कहना है कि मृतक सफाई कर्मचारी के स्वजन को एक करोड़ रुपए, एक नौकरी और दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की गई है। बड़ी संख्या में सफाई कर्मचारी एसएन मेडिकल कॉलेज पोस्टमार्टम गृह में पहुंच गए हैं। बवाल की आशंका को देखते हुए पोस्टमार्टम गृह को छावनी में तब्दील कर दिया गया है। वहीं वाल्‍मीकि समाज का एक दल गौरव वाल्‍मीकि के साथ जगदीशपुरा थाने पहुंच गया है और मृतक अरुण के परिवार के लोग सीओ लोहामंडी कार्यालय पर जमा हैं।

भाजपा सरकार में पुलिस अपराधी: अखिलेश यादव

सपा अध्‍यक्ष अखिलेश यादव ने आज सुबह इस मामले में ट्वीट किया है। उन्‍होंने लिखा है कि भाजपा सरकार में पुलिस ही अपराध कर रही है तो फिर अपराध कैसे रुकेगा। उन्‍होंनेे घटना को स्‍तब्‍धकारी बताते हुए दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। वहीं इस मामले में कांग्रेस का एक प्रतिनिधिमंडल कमिश्‍नर से मुलाकात करने जा रहा है।

Edited By: Prateek Gupta