आगरा, जागरण संवाददाता। थाना न्यू आगरा से चंद कदम की दूरी पर सड़क से लेकर फुटपाथ बेच दिया गया है, लेकिन ठेकेदारों का काॅकस इतना मजबूत है, कि लगाम नहीं कस पा रही है। फुटपाथ पर फड़ लगती है, तो सड़क किनारे बैठकर सामान बेचा जा रहा है। ठेल वालों ने तो सड़क पर कब्जा जमा रखा है। जागरण ने भगवान टाकीज चौराहे से दयालबाग शिक्षण संस्थान की ओर जाने वालों की समस्या को उठाया, लेकिन जिम्मेदारों ने आंखें मूंद ली हैंं। वे इस पर कार्रवाई को तैयार नहीं हैं।

भगवान टाकीज चौराहे से दयालबाग की ओर जाने वाली सड़क 80 फीट की है, लेकिन ठेकेदारों ने इसे 30 से 40 फीट का बना दिया है, जिस कारण क्षेत्रीय लोग पूरे दिन जाम से जूझते हैं। थाने के ठीक सामने आॅटो सड़क पर सवारियां भरते हैं तो जाम का कारण बनते हैं। ढाबाें ने फुटपाथ पर कब्जा जमा रखा है, तो उनके यहां आने वालों की पार्किंग सड़क पर होती है। सब्जी और फलों के ठेल वालों ने सड़क, फुटपाथ दोनों पर कब्जा जमा रखा है। फुटपाथ पर लगी अस्थाई दुकानों, ठेलों का ठेका नगर निगम पर नहीं बल्कि निजी हाथों में है। सूत्रों के अनुसार पुलिस के घालमेल से कई अनाधिकृत ठेकेदार सक्रिय हैं जो वसूली करते हैं। प्रति ठेल और प्रति अनाधिकृत अस्थाई दुकान 50 से 100 रुपये प्रतिदिन वसूली करते हैं, तो कुछ जगहों का एक मुश्त ठेका भी हो गया है। ठेल और अस्थाई दुकानों के कारण सड़क पर वाहनों को पूरे दिन जाम से जूझना होता है।

क्या बोले लोग

सब्जी, फल के ठेल वाले बीच सड़क पर खड़े रहते हैं, तो आटो वाले सड़क पर खड़े होकर ही सवारियां भरते हैं। इस कारण जाम लगता है।

रामकुमार सिंह, क्षेत्रीय निवासी

फुटपाथ पर कब्जा है और दुकानों के सामने ठेल खड़े रहते हैं। कई स्थान पर तो निकलने की जगह भी नहीं मिलती है। जाम क्षेत्र की बड़ी समस्या है।

विनय चौधरी, क्षेत्रीय निवासी

Edited By: Nirlosh Kumar