आगरा, जागरण संवाददाता। शहर के संवेदनशील क्षेत्र मंटोला में रविवार रात हुए साम्प्रदायिक संघर्ष के बाद तनावपूर्ण शांति का माहौल है। क्षेत्र में पुलिस और पीएसी तैनात है। पुलिस ने दोनों पक्षों के 50- 60 अज्ञात लोगों के खिलाफ बलवा, जानलेवा हमला और लोक व्यवस्था भंग करने की धाराओं में मुकदमा लिखा है। हालाकि अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

मामले के अनुसार मंटोला के टीला नंदराम निवासी प्रमोद पुत्र जैनी प्रसाद रविवार रात साढ़े आठ बजे आरओ प्लांट से बाल्टी में पानी लेकर आ रहा था। मुंडापाड़ा के पास रास्ते में सलमान और शाहरुख अलाव ताप रहे थे। प्रमोद का आरोप है कि इन दोनों में से एक युवक ने पैर अड़ाकर उसे गिरा दिया। विरोध करने पर दोनों युवकों ने उसे पीट दिया। इस पर प्रमोद पक्ष के लोग मंटोला थाने पहुंचे। 

इधर, दूसरे पक्ष के लोगों ने जैनी प्रसाद, ताराचंद और प्रेमचंद के मकानों पर पथराव शुरू कर दिया। पुलिस के पहुंचने के बाद भी पथराव होता रहा। कांच की बोतलें फेंकीं गईं। रुक-रुक कर करीब आधा दर्जन राउंड फायर भी हुए। आधा घंटे तक चले बवाल से मुहल्ले में भगदड़ मच गई। दरवाजे बंद कर महिला और बच्चे घरों में दुबक गए। इसी बीच, एसपी सिटी प्रशांत वर्मा पूरे शहर के पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए। तब तक दोनों पक्ष के लोग वहां से भाग गए। पथराव में धीरज, अरुण प्रसाद, प्रमोद और चंद्रा देवी घायल हो गए। प्रमोद पुलिस के सामने नहीं आया। अन्य तीनों घायलों को पुलिस ने मेडिकल के लिए भेज दिया। तनाव को देखते हुए रात में ही टीला नंदराम और मंटोला में पुलिस और पीएसी तैनात कर दी गई थी जोकि सेामवार दोपहर तक तैनात है। 

Posted By: Prateek Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप