आगरा (जागरण संवाददाता)। आगरा के ताजगंज थाने से चंद कदम की दूरी पर स्थित असद गली में अल्पसंख्यक युवकों ने गुरुवार रात गुंडई दिखाई। दवा लेने जा रही युवती का दुपट्टा खींचकर उससे छेड़छाड़ की। विरोध करने पर पहले उसके परिजनों को पीटा फिर घर पर पथराव कर दिया। इसमें पांच महिलाएं चोटिल हो गईं। बवाल के बाद पुलिस ने दबिश देकर तीन युवकों को हिरासत में ले लिया। अन्य की गिरफ्तारी को देर रात तक दबिश दी जा रही थी।

ताजगंज के असद गली निवासी जाटव समाज की एक युवती छह वर्षीय ममेरी बहन के साथ गुरुवार रात आठ बजे दवा लेने जा रही थी। घर से थोड़ी दूरी पर पड़ोस की बस्ती अल्पसंख्यक समाज के युवक खड़े थे। युवती के मुताबिक, वे शराब और सिगरेट पी रहे थे। पास से निकलने पर युवकों ने उसकी ओर सिगरेट का धुआं मार दिया। उसने नाराजगी जताई, तो युवकों ने गाली गलौज कर उसका दुपट्टा खींच दिया।

युवती भागकर अपने घर पहुंची और मां को जानकारी दी। उस समय परिवार के अधिकतर सदस्य बाहर थे। तीन-चार युवक विरोध जताने पहुंचे, तो आरोपियों ने उन्हें भी पीट दिया। जान बचाकर वे घर की ओर भागे, तो आरोपी युवकों की बस्ती से करीब 100-150 युवक डंडे और तलवार लेकर उनके घर की ओर दौड़े। उन्होंने पीड़िता के घर पर जमकर पथराव किया।

इसमें लज्जा, पूरन देवी, लच्छो, कुसुम और केला देवी चोटिल हो गईं। सांप्रदायिक तनाव की स्थिति को देखते हुए एसपी सिटी शहर भर के पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। तब तक आरोपी वहां से भाग गए। पुलिस ने घायल महिलाओं का मेडिकल कराया है। एसपी सिटी अनुपम सिंह ने बताया कि तीन आरोपियों को हिरासत में लिया गया है। अन्य की तलाश की जा रही है। सभी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें: हरियाली बढ़ाने को उत्तर प्रदेश में लगेंगे पांच करोड़ पौधे

शाम होते ही पार्क में सजती है महफिल: बस्ती के लोगों का कहना था कि असद गली के पास स्थित पार्क और पुलिया पर शाम होते ही शराबी युवक खड़े हो जाते हैं। युवतियों का वहां से निकलना मुश्किल हो जाता है। पुलिस से कई बार शिकायत भी की है। थाने के पास का मामला होने के बाद भी पुलिस इसमें कोई कार्रवाई नहीं करती।

यह भी पढ़ें: गंगा अवतरण दिवस पर कन्या पूजन कर बेटी बचाओ का पैगाम

Posted By: amal chowdhury

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप