आगरा, जागरण संवाददाता। महंगाई की मार झेल रहे लोगों के लिए राहत भरी खबर है। ग्रीन गैस लिमिटेड ने कंप्रेस्ड नेचुरल गैस (सीएनजी) और पाइप्ड नेचुरल गैस (पीएनजी) के दाम घटा दिए हैं। इससे रसोई से लेकर यातायात के संसाधनों के लिए बड़ी राहत हुई है। सीएनजी के दाम 4.10 रुपये प्रति किलोग्राम तो पीएनजी के दाम 4 रुपये प्रति स्टैंडर्ड क्यूविक मीटर की गिरावट आई है। सीएनजी के दाम अब 93.15 रुपये प्रति किलोग्राम और पीएनजी के 52.20 रुपये प्रति स्टैंडर्ड क्यूबिक मीटर होंगे।

ग्रीन गैस लिमिटेड ने छह महीने में पांच बार सीएनजी और पीएनजी के दामों में इजाफा किया है। मार्च 2022 में सीएनजी के दाम 72.50 रुपये प्रति किलोग्राम थे। वहीं पीएनजी के दाम स्लेब-1 38.50 रुपये प्रति स्टैंडर्ड क्यूबिक मीटर और स्लेब-2 के 45.09 रुपये प्रति स्टैंडर्ड क्यूबिक मीटर थे। 31 मार्च से दामों में इजाफा होना शुरू हुआ तो एक अगस्त तक पांच बार दामों में इजाफा किया गया। सीएनजी के दाम इस रफ्तार से बढ़े कि डीजल ही नहीं पेट्रोल को भी पीछे छोड़ दिया था। ऐसे में लोगों के सामने मुश्किल खड़ी हो गई थी और सीएनजी वाहन लेने वाले अपने को ठगा हुआ महसूस कर रहे थे। वहीं आटो चालकों ने भी हर रूट पर किराये में इजाफा कर दिया था। कंपनी ने बुधवार को दाम घटा दिए हैं। ग्रीन गैस लिमिटेड के मीडिया समन्वयक विनय भारद्वाज ने बताया कि घटे हुए दाम गुरुवार सुबह छह बजे से प्रभावी होंगे।

सीएनजी के दामों में छह महीने में 25 रुपये लगभग इजाफा किया है। इसी अनुपात में दाम घटाए जाने चाहिए, तभी लोगों को राहत मिल सकेगी।

योगेश जादौन, लायर्स कालोनी

सीएनजी के दामों में गिरावट आने से राहत हुई है, लेकिन अभी और दाम घटने चाहिए। आगरा ताज ट्रिपेजियम जोन में है, जिससे यहां की सीएनजी पर विशेष राहत होनी चाहिए।

गगन तोमर, सिकंदरा

पीएनजी के दाम घटने से रसोई को कुछ राहत हुई है, लेकिन ये पर्याप्त नहीं है। दाम कई बार बढ़ाए गए हैं, इसलिए उसी अनुपात पर घटाया भी जाना चाहिए।

नेहा शर्मा, कमला नगर

पांच फीसद जीएसटी ने खाद्य सामग्री पर बेहिसाब दामों में इजाफा किया है। वहीं गैस के दाम भी निरंतर बढ़े हैं। दाम घटे हैं ये बेहतर है, लेकिन अभी और घटाए जाने चाहिए।

शिल्पी अग्रवाल, बल्केश्वर 

Edited By: Tanu Gupta