आगरा, जागरण संवाददाता। छावनी परिषद कार्यालय में गुरुवार को हुई बैठक हंगामेदार रही। इसमें अवैध निर्माण और बकाया के मामलों समेत आठ बिदुओं पर चर्चा होनी थी, लेकिन विवाद के हालात बनने के बाद कोई निर्णय नहीं लिया जा सका। वहीं सिविल एरिया कमेटी ने भी सारी जांच कर पत्र जुटा लिए हैं। अब दोनों बैठकों के बिदुओं को बोर्ड मीटिग में रखने का प्रस्ताव पारित हुआ।

बैठक की अध्यक्षता उपाध्यक्ष डा. पंकज महेंद्रू और छावनी परिषद सीईओ ज्योति कपूर ने की। बैठक में आठ एजेंडे उठाए जाने प्रस्तावित थे, लेकिन कुछ सदस्यों की आपत्ति के बाद कोठी नंबर 49 में अवैध निर्माण और टोरंट पर बकाया 50 लाख से ज्यादा के टेंडर का मामला उठाया गया। कोठी नंबर 49 के मामले को कुछ सदस्यों ने पूर्वाग्रह ग्रसित होकर उठाने के आरोप लगाए, जिसे लेकर गहमागहमी के हालात बन गए। वहीं बकाया मामले में टोरंट को बिना उच्चाधिकारियों की सहमति के निस्तारित करने के आरोप भी लगाए गए। इसको लेकर भी हंगामा हुआ। बाद में आम सहमति बनी की उक्त सभी सदस्यों के मामले आगामी बोर्ड बैठक में उच्चाधिकारियों के सामने उठाए जाएंगे। जुटाए साक्ष्य

सिविल एरिया कमेटी की बैठक भी संपन्न हुई। अध्यक्षता उपाध्यक्ष डा. पंकज महेंद्रू ने की। इसमें सफाई ठेके के लंबित टेंडर पर चर्चा हुई। बनाई गई कमेटी ने सफाई ठेके से जुडे सभी साक्ष्य और पेपर जुटाए। तकनीकी आधार पर भी साक्ष्य जुटाए गए। यह मामला भी बोर्ड बैठक में रखने पर सहमति बनी। इसके बाद इस पर निर्णय लेने की बात कही। छावनी परिषद सीईओ ज्योति कपूर, इंजीनियर विजय शर्मा आदि मौजूद रहे।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप