आगरा(जागरण संवाददाता): एटा के जैथरा थाना क्षेत्र के गाव लालपुर जहागीराबाद में एक खेत में स्थापित बुद्ध प्रतिमा अराजक तत्वों ने तोड़ दी, जिसको लेकर लोगों में रोष व्याप्त हो गया। मौके का निरीक्षण करने के बाद पुलिस ने आरोपियों की तलाश की, मगर किसी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है।

गाव में अधिवक्ता सौरभ मिश्रा के खेत में 16 जून 2018 को गाव के कुछ लोगों ने भगवान बुद्ध की प्रतिमा स्थापित कर दी थी, जिसका वकील ने विरोध किया और थाने में मुकदमा दर्ज करा दिया था, लेकिन इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं हो सकी। इसके बाद शनिवार की सुबह लोगों ने जाकर देखा तो प्रतिमा टूटी मिली, जिसको लेकर शाक्य समाज के तमाम लोगों की भीड़ मौके पर एकत्रित हो गई और वे रोष जताने लगे। जबकि अधिवक्ता पक्ष का कहना था कि पहले ही मामले में मुकदमा दर्ज हो चुका है। प्रतिमा अवैध रूप से स्थापित की गई थी।

दूसरे पक्ष के लोग आरोप लगा रहे हैं कि शातिभंग करने के उद्देश्य से प्रतिमा के साथ छेड़छाड़ की गई। मामला जब विचाराधीन है और उसकी विवेचना चल रही है तो प्रतिमा को तोड़ने की जरूरत नहीं थी। तोड़फोड़ करके भगवान बुद्ध का अपमान किया गया है। ग्रामीणों ने मामले की सूचना जैथरा पुलिस को दी। इसके बाद सीओ अलीगंज अजय भदौरिया, इंस्पेक्टर जैथरा इंद्रेशपाल सिंह फोर्स लेकर मौके पर पहुंच गए और लोगों को समझा-बुझाकर शात किया। प्रतिमा के साथ तोड़फोड़ किए जाने की तहरीर बुद्ध अनुयायियों ने पुलिस को दी है। मामले की छानबीन की जा रही है

Posted By: Jagran