जेएनएन, आगरा। बरहन के गढ़ी सहजा में खेत पर सो रहे 62 वर्षीय किसान महेंद्र सिंह की गोली मारकर हत्या के मामले में पुलिस के श्वान ने जांच को आगे बढ़ाने में मदद की है। साक्ष्य जुटाने में माहिर श्वान दो वर्ष का इवेस्टर है। उसकी मदद से पुलिस का शक गांव के ही एक युवक पर है। फिलहाल पुलिस ने उससे पूछताछ कर जानकारी हासिल की। पुलिस के मुताबिक साक्ष्य जुटाने के बाद ही हत्यारोपित को गिरफ्तार किया जाएगा।

रविवार सुबह किसान का खून से लथपथ शव खेत पर चारपाई पर पड़ा मिला था। उनकी कनपटी से सटाकर गोली मारी गई थी। स्वजन ने किसी भी तरह की रंजिश से इन्कार किया है। सोमवार को छानबीन को मौके पर पहुंची फील्ड यूनिट और श्वान दस्ते ने साक्ष्य एकत्र किए। एसओ बरहन कुलदीप दीक्षित ने बताया कि पुलिस अभी केस की जाच में जुटी है। पुलिस के श्वान इवेस्टर की मदद भी ली है। कुछ अहम सुराग हाथ आए हैं। सभी बिंदुओं पर जांच के बाद ही असलियत सामने आएगी। किसान के बेटे का गांव के युवक से हुआ था विवाद

लेब्रा बीड के श्वान इवेस्टर को सोमवार को बरहन के गांव गढ़ी सहजा में ले जाया गया। गंध सूंघने के बाद वह गांव में आसपास ही घूमता रहा। उसके ट्रेनर अखिलेश का कहना है कि यह अच्छा संकेत है। हत्यारोपित गांव का ही हो सकता है। सूत्रों का कहना है कि दो माह पूर्व महेंद्र सिंह के बेटे का इसी गांव के एक युवक से विवाद हुआ था। पुलिस को उसी पर शक है। फिलहाल पुलिस का कहना है कि मामले की जांच के बाद असलियत का पता चलेगा।

Edited By: Jagran