जागरण संवाददाता, आगरा: अंबेडकर विवि की मुख्य परीक्षा में नकल में पकड़े गए 64 कॉलेजों के छात्रों की संबंधित विषय की परीक्षा निरस्त कर दी गई है। इन छात्रों की परीक्षाएं सत्र 2017-18 की मुख्य परीक्षा के साथ होगी। गुरुवार को विवि के गेस्ट हाउस में आयोजित परीक्षा समिति की बैठक में सामूहिक नकल कराने पर

17 कॉलेजों को दो साल के लिए डिबार किया गया है। वहीं, 29 कॉलेजों को एक साल के लिए डिबार किया गया है।

विवि की सत्र 2016-17 की परीक्षा में सचल दल ने 124 कॉलेजों में नकल की रिपोर्ट दी थी। विशेषज्ञों से जांच कराने पर 60 कॉलेजों में सामूहिक नकल की पुष्टि नहीं हुई। इन कॉलेजों को छोड़ दिया है। पीआरओ डॉ. गिरजा शंकर शर्मा ने बताया कि विवि की वेबसाइट पर कॉलेजों की सूची अपलोड कर दी गई है। इस दौरान कुलपति डॉ. अरविंद दीक्षित, कुलसचिव आरपी सिंह, परीक्षा नियंत्रक केएन सिंह, औटा अध्यक्ष डॉ. वीरेंद्र चौहान, महामंत्री डॉ. एके सिंह आदि मौजूद रहे।

डिबार कॉलेजों की नई संबद्धता पर रोक

सामूहिक नकल में पकड़े गए 46 कॉलेज डिबार किए गए हैं। इस दौरान कॉलेजों को नई संबद्धता नहीं दी जाएगी। डिबार का समय समाप्त होने के बाद कमेटी जांच करेगी।

स्वकेंद्र समाप्त, एकेडमिक स्क्वैड करेगी जांच

विवि की सत्र 2017-18 की परीक्षा से स्वकेंद्र प्रणाली समाप्त कर दी गई है। विवि द्वारा एकेडमिक मैंटेनेंस स्क्वैड बनाई जा रही है। यह कॉलेजों की व्यवस्थाएं देखेगी, इनकी रिपोर्ट के बाद ही परीक्षा केंद्र बनाए जाएंगे। परीक्षा केंद्र के लिए सीसीटीवी अनिवार्य होगा।

124 कॉलेजों में नकल की रिपोर्ट दी गई

17 कॉलेज सामूहिक नकल में दो साल के लिए डिबार किए गए।

29 कॉलेज सामूहिक नकल में एक साल के लिए डिबार।

18 कॉलेजों में आंशिक नकल, नकल करते पकड़े गए छात्रों की परीक्षा निरस्त

60 कॉलेजों को क्लीन चिट

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप