मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

आगरा(जागरण संवाददाता): सपा मुखिया व उप्र के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव शनिवार सुबह करीब साढ़े ग्यारह बजे वृंदावन के बांके बिहारी मंदिर में दर्शन के लिए पहुंचे। उनके साथ पत्‍‌नी डिंपल यादव व बच्चों के अलावा मां साधना गुप्ता भी हैं।

सपा मुखिया का मंदिर आने का पूर्व घोषित कार्यक्रम नहीं आया था। शनिवार सुबह अचानक उनकी कारों का काफिला वृंदावन पहुंचा। इसकी जानकारी मिलते ही मंदिर के पास भीड़ जुट गई, प्रशासन भी अलर्ट हो गया। अखिलेश यादव मंदिर के पास ही कार से उतर कर सीधे मंदिर में प्रवेश कर गए। उन्होंने मीडिया कर्मियों से भी लौटकर बात करने की बात कही। श्री यादव का मंदिर आने का यह पहला मौका नहीं है, वह पहले भी आते रहे हैं। हालांकि उनके बांके बिहारी के दर्शन करने के अलग-अलग निहितार्थ निकाले जा रहे हैं। साधना गुप्ता की मौजूदगी ने चौंकाया

-पिछले दिनों सपा में मची रार के बाद सपा मुखिया व साधना गुप्ता के बीच दूरियां बढ़ी मानी गई थी। इसके बाद अखिलेश यादव व साधना गुप्ता साथ-साथ कम ही दिखाई दिए थे। बांके बिहारी में दोनों के साथ कार से उतरने पर लोग चौंक गए। लोगों का मानना है कि दोनों के साथ दर्शन करने से लग रहा है कि यादव परिवार में सब कुछ ठीक-ठाक चल रहा है। काबिलेगौर है कि सपा संरक्षक मुलायम सिंह का भी बीते दिनों से रुख बदला है और अखिलेश यादव का विरोध करने वाले उनके चाचा शिवपाल यादव ने भी अपना सुर बदला है। अब वह सपा मुखिया का समर्थन करते नजर आ रहे हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप