आगरा, जागरण संवाददाता। ताजनगरी की आबोहवा मंगलवार को एक बार फिर खराब स्थिति में पहुंच गई। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) की रिपोर्ट के अनुसार यहां एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआइ) खराब स्थिति में दर्ज किया गया। यहां अति सूक्ष्म कणों (पीएम2.5) की मात्रा बढ़ी हुई रही।

ताजनगरी में दीपावली पर हुई आतिशबाजी और उसके बाद एनसीआर में पराली जलाए जाने से वायु प्रदूषक तत्व हवा के साथ बहकर आगरा तक आने तक वायु प्रदूषण बढ़ गया था। पांच नवंबर तक यहां एक्यूआइ खराब स्थिति में बना रहा था। इसके बाद एक्यूआइ में सुधार हुआ था और यह मध्यम स्थिति में आ गया था। मंगलवार सुबह शहर में धुंध छाई रही। दृश्यता प्रभावित होने के साथ आंखों में जलन की समस्या आम रही। संजय प्लेस स्थित ऑटोमेटिक मॉनीटरिंग स्टेशन पर एकत्र हुए आंकड़ों के अनुसार मंगलवार को आगरा में एक्यूआइ 209 दर्ज किया गया। यह सोमवार के 136 एक्यूआइ से कहीं अधिक था। यहां वायु प्रदूषण बढ़ा हुआ होने का मुख्य कारण हवा में पीएम2.5 की मात्रा अधिक होना रहा। हवा के साथ प्रदूषक तत्वों के बहकर आने की वजह से ताजनगरी में वायु प्रदूषण बढ़ा है। मंगलवार को यहां पीएम2.5 की मात्रा अधिकतम 278 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर तक पहुंच गई, जबकि यह 60 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर से अधिक नहीं होनी चाहिए।

पिछले कुछ दिनों में एक्यूआइ की स्थिति

शुक्रवार, 142

रविवार, 114

सोमवार, 136

मंगलवार, 209

यह रही वायु प्रदूषण की स्थिति

प्रदूषक तत्व, न्यूनतम, अधिकतम, औसत

कार्बन मोनो ऑक्साइड, 51, 106, 56

नाइट्रोजन डाइ-ऑक्साइड, 41, 100, 78

सल्फर डाइ-ऑक्साइड, 7, 46, 22

ओजोन, 7, 103, 38

पीएम2.5, 146, 278, 212 

Posted By: Tanu Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप