आगरा, जागरण संवाददाता। नौतपा में अब हाल ये है कि न दिन में सुकून है और ना रात को चैन। शनिवार को सुबह न्यूनतम तापमान सामान्य से तीन डिग्री अधिक दर्ज हुआ है, इससे ये संकेत है कि दोपहर में अधिकतम तापमान भी जोर मारेगा। मौसम विभाग ने आज भी हीट वेव बने रहने के आसार जताए हैं।

ताजनगरी में गर्मी से परेशान लोगों को एक सप्ताह तक राहत मिलती नजर नहीं आ रही है। मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि 15 जून तक अधिकतम तापमान 43 से 45 डिग्री सेल्सियस के बीच बना रहेगा। शनिवार सुबह आंशिक बादल रहे और हवा चलती रही। सुबह नौ बजे से धूप ने असर दिखाना शुरू कर दिया है। 10 बजे से गर्म हवा चलने लगी है। दोपहर में लू चलेगी। लोग गर्मी से बेहाल नजर आ रहे हैं।

शुक्रवार को अधिकतम तापमान 44.2 डिग्री सेल्सियस रहा, जो सामान्य तापमान से तीन डिग्री सेल्सियस अधिक था। शनिवार सुबह न्यूनतम तापमान 30.0 डिग्री सेल्सियस रहा, जो सामान्य तापमान से तीन डिग्री सेल्सियस अधिक है। मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि शनिवार को हीट वेव जारी रहेगी। अधिकतम तापमान 45 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच सकता है।

आगामी दिनों के लिए तापमान का पूर्वानुमान

तिथि, अधिकतम, न्यूनतम

11 जून, 45, 30

12 जून, 43, 31

13 जून, 43, 31

14 जून, 45, 32

15 जून, 45, 32

ये करें

− सुबह 11 से शाम चार बजे तक घर से बाहर निकलने से बचें।

− धूप में छाता लेकर निकलें, चेहरे और शरीर को ढक कर रखे।

− स्वच्छ पानी का सेवन अधिक करें, नीबू शिकंजी, ओआरएस घोल का सेवन करें।

− रखा हुआ खाना, बाजार का खाना खाने से बचें।

क्‍या है हीट स्‍ट्रोक

आगरा के एसएन के मडिसिन विभाग के डा. मृदुल चतुर्वेदी ने बताया कि शरीर को ठंडा करने के लिए एक कूलिंग सिस्टम होता है। मगर, तापमान बढ़ने के साथ ही गर्म हवा चलने पर कूलिंग सिस्टम गड़बड़ा जाता है। शरीर से पसीना निकलना बंद हो जाता है। शरीर का तापमान 101 फेरनहाइट से अधिक पहुंच जाता है। बेहोशी छाने लगती है, शरीर में पानी की कमी हो जाती है। यह घातक भी हो सकता है। ऐसे केस में मरीज के शरीर पर गीला कपड़ा रखकर पंखे में लिटा दिया जाता है। जिससे शरीर का तापमान कम होने लगता है।

ये हैं हीट स्ट्रोक के लक्षण

- शरीर का तापमान 101 फेरनहाइट से अधिक पहुंचना।

- पसीना निकलना बंद होना।

- बेहोशी छाना।

- हाथ पैरों में दर्द।

Edited By: Prateek Gupta